फिल्म रिव्यु : डियर जिंदगी 

Samachar Jagat | Friday, 25 Nov 2016 09:10:42 AM
फिल्म रिव्यु : डियर जिंदगी 

फिल्म का नाम - डियर जिंदगी 
डायरेक्टर- गौरी शिंदे
स्टार कास्ट- आलिया भट्ट, कुणाल कपूर, अंगद बेदी, शाहरुख खान, अली जफर 
अवधि- 2 घंटा 29 मिनट 
सर्टिफिकेट-U/A
रेटिंग- 3 स्टार

'इंग्लिश विंग्लिश' जैसी फिल्म डायरेक्ट कर चुकी निर्देशक गौरी शिंदे ने इस बार लव एंगल को लेकर फिल्म बनाई है डियर जिंदगी। 'डियर जिंदगी' में शाहरुख-आलिया की जोड़ी पहली बार पर्दे पर नजर आ रही है। आइये फिल्म की समीक्षा करते है-

कहानी-
फिल्म की कहानी कायरा (आलिया भट्ट) से शुरू होती है जो एक सिनेमेटोग्राफर है। लेकिन उसे तलाश है एक परफेक्ट जिंदगी की। उसका सपना अपनी एक फिल्म डायरेक्ट करना। इस दौरान कायरा प्रोड्यूसर रघुवेन्द्र (कुणाल कपूर) से मिलती है। लेकिन किन्हीं कारणों से उसकी दोस्त टूट जाती है। फिर वो सिड (अंगद बेदी) और रूमी (अली जफर) से भी मिलती है लेकिन यहा भी उसकी तलाश पूरी नहीं होती है। ज़िन्दगी की तलाश में कायरामुंबई से गोवा पहुंच जाती है। और यहां वो डॉक्टर जहांगीर खान उर्फ जग (शाहरुख खान) से मिलती है। जो कायरा को जिंदगी जीने का नया नजरिया सिखाते हैं।  जग हमेशा से ही कायरा की सोच और उसके जिंदगी जीने के ढंग को करेक्ट करने में लगे रहते हैं कायरा जहांगीर की दोस्ती कहा तक जाती है ये देखने के लिए तो आपको सिनेमाघर तक जाना ही पड़ेगा।  

स्क्रिप्ट -

मसाला और कॉमर्शियल फिल्मों की रेस में गौरी की  'डियर जिंदगी' एक सुकून देती है। गौरी शिंदे ने बहुत ही इत्मिनान से इस कहानी को लिखा होगा।  जो इस भागदौड़ वाली ज़िन्दगी में ज़िन्दगी के बारे में सोचने पर मजबूर करती है।

निर्देशन -
'डियर जिंदगी' की कहानी और डायरेक्शन दोनों कमाल के है। गौरी ने एक बार फिर लीक से हटकर किरदारों को परदे ओर उतरा है। फिल्म के लोकेशन्स और लक्ष्मण उतेकर की सिनेमेटोग्राफी कमाल की है। 

एक्टिंग -
उड़ता पंजाब और 'हाईवे जैसी फिल्मो में उम्दा अभिनय कर चुकी आलिया भट्ट ने एक बार फिर अपने बेमिसाल एक्टिंग को प्रूव किया है।आलिया ने भीड़-भाड़ और मसाला फिल्मों से दूर इस सुकून से भरी फिल्म में उम्दा अभिनय किया है। वही जहांगीर के किरदार में शाहरुख़  का काम भी तारीफे काबिल है।  बाकी कलाकारों का  काम भी बेहतर है। 

म्यूजिक -

गौरी की इंग्लिश विंग्लिश' को संगीत दे चुके अमित त्रिवेदी ने ही इसे संगीत से सजाया है। फिल्म का बैकग्राउंड म्यूजिक भी अच्छा है। 

कमजोर कड़ियां-
फिल्म की लम्बाई इसकी कमजोर कड़ी है। यह कुछ लोगों को ही बांध कर रख पाएगी। फिल्म की एडीटिंग और बेहतर की जाती तो ये क्रिस्प होने के साथ- साथ ज्यादा बेहतर लगती।  

क्यों देखें -
शाहरुख़ और आलिया के फैन एक बार फिल्म देख सकते है। इस भागदौड़ भरी ज़िन्दगी में दो पल निकल कर ज़िन्दगी को हसीन पहलु देखने की तमन्ना रखने वाले भी एक बार फिल्म ज़रूर देखें। 

 

कहीं आपका प्यार लस्ट तो नहीं जानिए!

जाड़े में मसाज से पाएं रूखी त्वचा से छुटकारा

चमकती हुई त्वचा के लिए अपनाइए ये टिप्स

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर
ज्योतिष

Copyright @ 2016 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.