पाकिस्तान: नवाज शरीफ अस्पताल में भर्ती, हालत स्थिर

Samachar Jagat | Monday, 30 Jul 2018 09:12:11 AM
Pakistan: recruitment to Nawaz Sharif hospital, condition stable

इस्लामाबाद। जेल में बंद पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की सेहत बिगडऩे के बाद रविवार को अस्थायी (केयरटेकर) सरकार के आदेश पर उन्हें देश के शीर्ष अस्पताल में  भर्ती कराया गया। अस्पताल के एक अधिकारी ने बताया कि शरीफ ने सीने में दर्द की शिकायत के बाद इस्लामाबाद के पाकिस्तान इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज में रविवार शाम भर्ती कराया गया है।

पूर्व प्रधानमंत्री की हालत स्थिर बताई जा रही है। 3 बार पाकिस्तान के प्रधानमंत्री रहे शरीफ (68) और उनकी बेटी मरियम (44) रावलपिंडी की अडियाला जेल में क्रमश: 10 और 7 वर्ष की जेल की सजा काट रहे हैं। लंदन में 4 आलीशान फ्लैटों की मिल्कियत से जुड़े मामले में एक जवाबदेही अदालत ने छह जुलाई को उन्हें भ्रष्टाचार का दोषी ठहराया था।

शरीफ को अस्पताल भेजने का फैसला पंजाब सरकार ने लिया क्योंकि अडियाला जेल उसके प्रशासनिक नियंत्रण में है। डॉक्टरों की एक टीम ने सिफारिश की थी कि शरीफ को उचित चिकित्सा एवं देखभाल की जरुरत है, क्योंकि उनके दोनों बाहों में तेज दर्द था जो संभवत: पर्याप्त रक्तसंचार की कमी की वजह से था। पंजाब के गृहमंत्री शौकत जावेद ने सरकारी पीटीवी से कहा कि इलेक्ट्रोकाडियोग्राम के बाद शरीफ को अस्पताल में भर्ती करने का निर्णय किया गया है।

पीआईएमएस के प्रवक्ता वसीम ख्वाजा ने कहा कि शरीफ अस्पताल के ह्रदय रोग केंद्र में हैं और उनकी स्थिति स्थिर है। जियो न्यूज की खबर के मुताबिक, शरीफ ने सीने में दर्द की शिकायत की थी, जिसके बाद डॉक्टरों ने उनकी जांच की और सलाह दी कि उन्हें तत्काल इस्लामाबाद के पाकिस्तान इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज की हृदय चिकित्सा इकाई में भर्ती कराया जाए।

पिछले हफ्ते खबर आई थी कि शरीफ के गुर्दे खराब होने के कगार पर हैं और डॉक्टरों ने सलाह दी थी कि उन्हें तत्काल अस्पताल ले जाने की जरुरत है। जावेद ने पहले कहा था कि शरीफ को इस्लामाबाद के पाकिस्तान इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज में भर्ती कराया जाएगा। इससे पहले डॉ. एजाज कादिर की अगुवाई में डॉक्टरों की एक टीम ने सीने में दर्द की शिकायत करने के बाद शरीफ का मेडिकल चेक-अप किया था।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.