RBI गवर्नर उर्जित पटेल संसदीय समिति के समक्ष पेश, नकदी संकट जैसे मुद्दों पर दिया जवाब

Samachar Jagat | Tuesday, 12 Jun 2018 03:34:35 PM
RBI governor Urjit Patel presented before parliamentary committee, answers on issues like cash crisis

नेशनल डेस्क। भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल आज संसद की एक समिति के सामने पेश हुए जहां उन्हें बैंकों के वसूली में फंसे कर्ज के ऊंचे स्तर, बैंकों में धोखाधड़ी और नकदी संकट जैसे मुद्दों पर कुछ कड़े सवालों का सामना करना पड़ा। पटेल ने समिति सदस्यों को आश्वासन दिया हैं रिजर्व बैंक अपनी प्रणाली को और अधिक मजबूत बनाने के लिए कदम उठा रहा हैं। 

मानहानि मामला: राहुल गांधी के खिलाफ आरोप तय

वित्त विषयक संसद की स्थायी समिति की बैठक में मौजूद एक सूत्र ने बताया कि उर्जित पटेल ने विश्वास व्यक्त किया हैं कि फंसे कर्ज यानी गैर-निष्पादित आस्तियों (एनपीए) के संकट से पार पा लिया जाएगा। कांग्रेसी नेता वीरप्पा मोइली की अध्यक्षता वाली इस समिति के कुछ सदस्यों ने पटेल से जानना चाहा कि एटीएम मशीनों में हाल में पैसे की कमी क्यों आ गयी थी। कुछ सदस्यों ने पूछा कि बैंकिग धोखाधड़ी से निपटने के लिए पर्याप्त कदम क्यों नहीं उठाऐ गए। 

कानून मंत्रालय मंत्री केवल 'पोस्ट ऑफिस’ नहीं :रविशंकर

उर्जित पटेल ने समिति से कहा कि बैंकिग व्यवस्था को चाकचौबंद बनाए जाने के लिए कदम उठाए जा रहे हैं। हमें विश्वास है कि हम इस संकट से निकल जाएंगे। उर्जित पटेल ने समिति को बताया कि दिवाला एवं ऋण शोधन अक्षमता कानून को लागू किए जाने के बाद एनपीए के मामले में हालात सुधरे हैं। बैठक में सदस्यों ने विभिन्न सरकारी बैंकों की खस्ता हालत, फंसे कर्ज और पंजाब नेशनल बैंक में करीब 13,000 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी को लेकर चिता व्यक्त की। 

मोहल्ला क्लीनिकों के दस्तावेज खंगाल रही है सीबीआई

बता दें कि समिति के सदस्य और तृणमूल कांग्रेस के नेता दिनेश त्रिवेदी ने सोमवार को कहा था नोटबंदी के बाद कितना पैसा प्रणाली में वापस आया आरबीआई ने अब तक इसकी जानकारी नहीं दी हैं और गवर्नर को इसके बारे में समिति को सूचित करना चाहिए और उन्हें उम्मीद हैं कि वह यह कल करेंगे। समिति की पिछली बैठक में उर्जित पटेल से ऋण पुनर्गठन कार्यक्रम के बारे में भी सवाल किए गए थे। 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.