सावन मास के इस दिन ऐसा करने से हो सकती है सभी कामनाओं की पूर्ति

Samachar Jagat | Wednesday, 14 Aug 2019 02:10:40 PM
By doing this on this day of Savan month all wishes can be fulfilled

इंटरनेट न्यूज  सावन मास में भक्त भगवान भोलेनाथ को प्रसन्न करने के लिए हर तरीका अपनाता हैं। कोई व्रत करता है,कोई तीर्थ स्थल से जल लाकर जल अभिषेक करता है,कोई उनके नामों का जप करता है।भक्त वो सभी कुछ करता है जिससे भगवान भोलेनाथ उन पर प्रसन्न होकर उनकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण कर सके।शास्त्रों में मान्यता है कि सावन मास की पूर्णिमा तिथि को भगवान भोनेनाथ का रुद्राभिषेक करने से भक्त की सभी मनोकामनाए पूर्ण हो जाती है।     


सावन पूर्णिमा पर इन पदार्थों से करें रुद्राभिषेक:

सावन मास की पूर्णिमा के दिन ही रक्षा बंधन महापर्व भी मनाया जाता है। इस दिन भगवान शिवशंकर के पंचाक्षरी मंत्र एवं महामृत्युंजय मंत्र का उच्चारण करते हुए इन विशेष पदार्थों के साथ रुद्राअभिषेक करने से हर मनोकामना पूरी हो जाती हैं।

1 पंचामृत- पंचामृत से महादेव का अभिषेक करने पर हर प्रकार के कष्टों का निवारण होगा।

2 दूध- गाय के दूध से रुद्राभिषेक करने से मनुष्य को यश और लक्ष्मी की प्राप्ति होने के साथ घर में खुशहाली आती है एवं घर से हर प्रकार के कलह एवं कलेश दूर होते हैं।

3 देसी घी- गाय के शुद्घ देसी घी से अभिषेक करने पर मनुष्य दीर्घायु को प्राप्त करता है तथा वंश की वृद्धि होती है।

4 गन्ने का रस- गन्ने के रस से अभिषेक करने पर घर में लक्ष्मी का सदा वास रहता है तथा किसी वस्तु की कभी कोई कमी नहीं रहती है।

सावन मास में भक्त भगवान भोलेनाथ को प्रसन्न करने के लिए हर तरीका अपनाता हैं। कोई व्रत करता है,कोई तीर्थ स्थल से जल लाकर जल अभिषेक करता है,कोई उनके नामों का जप करता है।भक्त वो सभी कुछ करता है जिससे भगवान भोलेनाथ उन पर प्रसन्न होकर उनकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण कर सके।शास्त्रों में मान्यता है कि सावन मास की पूर्णिमा तिथि को भगवान भोनेनाथ का रुद्राभिषेक करने से भक्त की सभी मनोकामनाए पूर्ण हो जाती है।     

सावन पूर्णिमा पर इन पदार्थों से करें रुद्राभिषेक:

सावन मास की पूर्णिमा के दिन ही रक्षा बंधन महापर्व भी मनाया जाता है। इस दिन भगवान शिवशंकर के पंचाक्षरी मंत्र एवं महामृत्युंजय मंत्र का उच्चारण करते हुए इन विशेष पदार्थों के साथ रुद्राअभिषेक करने से हर मनोकामना पूरी हो जाती हैं।

1 पंचामृत- पंचामृत से महादेव का अभिषेक करने पर हर प्रकार के कष्टों का निवारण होगा।

2 दूध- गाय के दूध से रुद्राभिषेक करने से मनुष्य को यश और लक्ष्मी की प्राप्ति होने के साथ घर में खुशहाली आती है एवं घर से हर प्रकार के कलह एवं कलेश दूर होते हैं।

3 देसी घी- गाय के शुद्घ देसी घी से अभिषेक करने पर मनुष्य दीर्घायु को प्राप्त करता है तथा वंश की वृद्धि होती है।

4 गन्ने का रस- गन्ने के रस से अभिषेक करने पर घर में लक्ष्मी का सदा वास रहता है तथा किसी वस्तु की कभी कोई कमी नहीं रहती है।

सावन मास में भक्त भगवान भोलेनाथ को प्रसन्न करने के लिए हर तरीका अपनाता हैं। कोई व्रत करता है,कोई तीर्थ स्थल से जल लाकर जल अभिषेक करता है,कोई उनके नामों का जप करता है।भक्त वो सभी कुछ करता है जिससे भगवान भोलेनाथ उन पर प्रसन्न होकर उनकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण कर सके।शास्त्रों में मान्यता है कि सावन मास की पूर्णिमा तिथि को भगवान भोनेनाथ का रुद्राभिषेक करने से भक्त की सभी मनोकामनाए पूर्ण हो जाती है।     

सावन पूर्णिमा पर इन पदार्थों से करें रुद्राभिषेक:

सावन मास की पूर्णिमा के दिन ही रक्षा बंधन महापर्व भी मनाया जाता है। इस दिन भगवान शिवशंकर के पंचाक्षरी मंत्र एवं महामृत्युंजय मंत्र का उच्चारण करते हुए इन विशेष पदार्थों के साथ रुद्राअभिषेक करने से हर मनोकामना पूरी हो जाती हैं।

1 पंचामृत- पंचामृत से महादेव का अभिषेक करने पर हर प्रकार के कष्टों का निवारण होगा।

2 दूध- गाय के दूध से रुद्राभिषेक करने से मनुष्य को यश और लक्ष्मी की प्राप्ति होने के साथ घर में खुशहाली आती है एवं घर से हर प्रकार के कलह एवं कलेश दूर होते हैं।

3 देसी घी- गाय के शुद्घ देसी घी से अभिषेक करने पर मनुष्य दीर्घायु को प्राप्त करता है तथा वंश की वृद्धि होती है।

4 गन्ने का रस- गन्ने के रस से अभिषेक करने पर घर में लक्ष्मी का सदा वास रहता है तथा किसी वस्तु की कभी कोई कमी नहीं रहती है।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.