भदोही: गांवों में भी परंपरा निभाने के लिये सजे नागपंचमी में कुश्ती-कुड़ी के अखाड़े

Samachar Jagat | Sunday, 26 Jul 2020 03:00:02 PM
Bhadohi: Dressed To play tradition in villages arena wrestling Kudi in Nagapanchami day

भदोही। उत्तर प्रदेश के भदोही में सिर्फ परंपराओं को निभाने के लिये नागपंचमी के अवसर पर जगह जगह खासकर ग्रामीण इलाकों में कुड़ी-कुश्ती दंगल के अखाड़े सजाये गए। इस बार कोविड-19 महामारी का असर साफ दिखायी पड़ा।
कुड़ी-कुश्ती दंगल शौकीनों ने ग्रामीण इलाकों में सदियों से चली आ रही इस परम्परा को शारीरिक दूरी का पालन करते हुए निभाया है। शनिवार को जहां नागपंचमी के मौके पर नाग देवता को दूध पिलाया गया, वहीं पूजा-अर्चना की गई। भदोही शहर के मथुरापुर गांव में कुड़ी का अखाड़ा सजाया गया। जिसमें गांव के तमाम बच्चे कुड़ी कूदते नजर आयें। और इस बीच गांव के मानिद लोगों ने बेहतर कौशल दिखाने वाले युवकों को इनाम भी दिया।
गांव के अखाड़ेदार लालजी यादव ने शनिवार को यहां बताया कि यह परम्परा धीरे-धीरे विलुप्त होती जा रही हैं। कुश्ती, अखाड़ा, कुड़ी कूदने में बच्चे अब रूचि नही ले रहे हैं। अब बच्चों में पहले जैसी न तो सेहत है और न ही रूचि। आधुनिक युग में मोबाइल ने बच्चों को बिगाड़ दिया। कोरोना वायरस के कारण इस बार अखाड़े बहुत कम परमपरा का निभाने के लिये सजे है।
अखाड़ेदार ने बताया के तीन दशक पहले गांव के अखाड़े में बच्चों की भीड़ उमड़ती थी। जो अब नदारत हैं।




 
loading...
loading...

Copyright @ 2020 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.