'चौकीदार चोर है' बयान पर राहुल गांधी ने सुप्रीम कोर्ट में जताया खेद

Samachar Jagat | Monday, 22 Apr 2019 12:53:04 PM
Rahul Gandhi expressed regret in the Supreme Court on the statement that the chowkidar chor hai

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने 'चौकीदार चोर है' बयान को लेकर सुप्रीम कोर्ट में खेद जताया है। सुप्रीम कोर्ट में दाखिल हलफनामें में राहुल गांधी ने कहा कि मेरा इरादा कोर्ट के आदेश को गलत प्रस्तुत करने का नहीं था। इसके साथ ही कहा कि उन्होंने चुनाव के आवेश में यह बयान दिया है। बता दें कि मीनाक्षी लेखी की अवमानना याचिका को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने पिछले दिनों कांग्रेस अध्यक्ष को नोटिस जारी कर जवाब मांगा ​था। 

गौरतलब है कि कांग्रेस अध्यक्ष ने सप्रीम कोर्ट के द्वारा नए दस्तावेजों के आधार पर राफेल डील पर पुनर्विचार याचिका को स्कीकार किए जाने को 'चौकीदार चोर है' के रूप में पेश किया था। हालांकि एससी ने कांग्रेस अध्यक्ष को नोटिस जारी करते हुए 22 अप्रैल तक इस मामले में जवाब देने के लिए कहा था। 

चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अगुआई वाली बेंच ने कहा कि कोर्ट ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ कोई टिप्पणी नहीं की है। राहुल गांधी पर सुप्रीम कोर्ट के बयान को गलत तरह से पेश करने का आरोप है। सुप्रीम कोर्ट में मामले की सुनवाई मंगलवार को होगी। 

इस मामले की सुनवाई करते हुए कोर्ट ने कहा था कि हम यह स्पष्ट करते हैं कि राहुल ने इस अदालत का नाम लेकर राफेल सौदे के बारे में मीडिया और जनता में जो कुछ कहा उसे गलत तरीके से पेश किया। राफेल मामले में दस्तावेजों को स्वीकार करने के लिए उनकी वैधता पर सुनवाई करते हुए इस तरह की टिप्पणियां करने का मौका कभी नहीं आया।


 
गौरतलब है कि राफेल डील में सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को फटकार लगाते हुए पेश हुए दस्तावेंजों की सत्यता स्वीकार की थी। इसके बाद राहुल गांधी ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने साफ कर दिया है कि 'चौकीदार चोर है'। तो वहीं सुप्रीम कोर्ट ने माना है कि राफेल डील में कोई न कोई भ्रष्टाचार जरूर हुआ है। इसके बाद भाजपा सांद मीनाक्षी लेखी ने इस पर सुप्रीम कोर्ट में अवमानना याचिका दाखिल की थी। 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2020 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.