Home

Day-special

नई दिल्ली। भोजपुरी कलाकार, संगीतकार और सामाजिक कार्यकर्ता भिखारी ठाकुर का जन्म हुआ। आज ही के दिन रूस का राष्ट्रीय गान गॉड सेव द जार पहली बार गाया गया। इसके अलावा भी भारतीय एवं विश्व इतिहास में आज के दिन बहुत कुछ हुआ, आइए एक नजर डालते हैं
नई दिल्ली। पोलैंड के लिमानोव में आस्ट्रिया की सेना ने रूसी सेना को पराजित किया। आज ही के दिन महान क्रांतिकारी भगत सिंह और राजगुरू ने अंग्रेज पुलिस अधिकारी सांडर्स को गोली मारी। इसके अलावा भी भारतीय एवं विश्व इतिहास में आज के दिन बहुत कुछ हुआ, आइए एक नजर डालते हैं आज के इतिहास पर
बतौर मॉडल अपने करियर की शुरूआत करने वाले जॉन अब्राहम का नाम बॉलीवुड में एक ऐसी शख्सियत के रूप में लिया जाता है जिन्होंने न सिर्फ अभिनय से बल्कि फिल्म निर्माता के रूप में भी अपनी खास पहचान बनाई है।
खेल डेस्क। ऑस्ट्रेलिया की महिला क्रिकेट टीम की पूर्व कप्तान बेलिंडा क्लार्क ने 19 साल पहले ऐसा रिकॉर्ड बनाया था जो आज तक नहीं टूटा है। 
नई दिल्ली। जापान के माउंट फुजी पर्वत में अंतिम बार ज्वालामुखी विस्फोट हुआ। आज ही के दिन कलकत्ता (अब कोलकाता) विद्युत आपूर्ति निगम ने हुगली नदी के भीतर नहर की खुदाई आरंभ की। इसके अलावा भी भारतीय एवं विश्व इतिहास में आज के दिन बहुत कुछ हुआ
नई दिल्ली। इटली में पीसा की झुकी मीनार को 11 साल बंद रहने के बाद दोबारा खोला गया। आज ही के दिन प्रथम विश्व युद्ध के दौरान वेरदून में हुए लड़ाई में फ्रांस ने जर्मनी को हराया। इसके अलावा भी भारतीय एवं विश्व इतिहास में आज के दिन बहुत कुछ हुआ, आइए एक नजर डालते हैं आज के इतिहास पर
भारतीय सिनेमा जगत में श्याम बेनेगल का नाम एक ऐसे फिल्मकार के रूप में शुमार किया जाता है जिन्होंने न सिर्फ समानान्तर सिनेमा को पहचान दिलाई बल्कि स्मिता पाटिल, शबाना आजमी और नसीरुद्दीन शाह समेत कई सितारों को स्थापित किया।
दो दशक से अधिक समय तक लगभग 170 फिल्मों में जिंदगी के हर फलसफे और जीवन के हर रंग पर गीत लिखने वाले शैलेन्द्र के गीतों में हर मनुष्य स्वयं को ऐसे समाहित सा महसूस करता है जैसे वह गीत उसी के लिए लिखा गया हो।
नई दिल्ली। ग्रीन हाउस गैसों के उत्सर्जन में कटौती के लिए विश्व के सभी देशों ने सहमति जताई। आज ही के दिन पूर्व भारतीय टेनिस खिलाड़ी विजय अमृतराज का जन्म हुआ। इसके अलावा भी भारतीय और विश्व इतिहास में आज के दिन बहुत कुछ हुआ, आइये एक नज़र डालते हैं आज के इतिहास पर
भारतीय सिनेमा को एक से बढ़कर एक नायाब फिल्में देने वाले पहले शो मैन राजकपूर बचपन के दिनों से अभिनेता बनना चाहते थे और इसके लिये उन्हें न सिर्फ क्लैपर ब्वॉय बनना पड़ा साथ ही केदार शर्मा का थप्पड़ भी खाना पड़ा था।

Copyright @ 2017 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.