भारत में इलेक्ट्रिक वाहनों को पेश करने के लिये दीर्घकालीन नियमन की जरूरत: हुंदै

Samachar Jagat | Friday, 14 Jun 2019 02:20:21 PM
Need for long-term regulation to introduce electric vehicles in India: Hyundai

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

सियोल।  दक्षिण कोरिया की वाहन कंपनी हुंदै ने मंगलवार को कहा कि वाहन विनिर्माताओं को भारत में बड़े पैमाने पर इलेक्ट्रिक वाहन पेश करने के लिये समय और समुचित दीर्घकालीन नियमन की जरूरत होगी। 

यह टिप्पणी इस रिपोर्ट के बीच आयी है कि भारत सरकार मोबाइल एप के जरिये टैक्सी बुकिग सेवा देने वाली कंपनियों के लिये 2026 तक अपने बड़े में कम से कम 40 प्रतिशत बिजली चालित वाहन जोड़ना अनिवार्य करने की योजना लागू करने वाली है।

कंपनी भारत में अपनी पूर्ण अनुषंगी हुंदै मोटर इंडिया लि. (एचएमआईएल) के जरिये काम कर रही है। उसने यह भी कहा कि वह अपनी प्रीमियम इलेक्ट्रिक कार कोना अगले महीने पेश करने की तैयारी में है। इसे स्थानीय रूप से चेन्नई कारखाने में एसेम्बल किया जाएगा।

यहां संवाददाताओं से बातचीत में एचएमआईएल के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यपालक अधिकारी एस एस किम ने कहा कि कंपनी को अभी आधिकारिक रूप से भारत से ओला और उबर जैसी एप के जरिये टैक्सी बुकिग सेवा देने वाली कंपनियों के लिये इलेक्ट्रिक वाहन की जरूरतों के बारे में कोई जानकारी नहीं मिली है। अगर ऐसी चीजें होती हैं तो यह समय के संदर्भ में काफी जल्दबाजी होगी।

उन्होंने कहा कि इसकी तैयारी के लिए और समय चाहिए। किम ने आगे कहा कि वाहनों के बेड़ों को इलेक्ट्रिक वाहनों में तब्दील करने को लेकर रूपरेखा को लेकर और स्पष्टता की आवश्यकता है। एजेंसी 
 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.