ट्रेनों की समय की पाबंदी दर में 10 प्रतिशत की गिरावट : उत्तर रेलवे

Samachar Jagat | Sunday, 10 Jun 2018 10:14:06 AM
10% drop in punctuality rate of trains: Northern Railway

नई दिल्ली। ट्रेनों के देर से चलने को लेकर रेल मंत्री पीयूष गोयल द्वारा फटकार लगाए जाने के कुछ दिनों बाद उत्तर रेलवे ने स्पष्ट किया कि रेलवे जोन में बड़े पैमाने पर कार्य जारी रहने के बावजूद गत वर्ष की तुलना में ट्रेनों की समय की पाबंदी में मात्र 10 प्रतिशत की गिरावट है। उत्तर रेलवे के महाप्रबंधक विश्वेश चौबे ने कहा कि आठ जून 2017 की स्थिति के अनुसार जोन में समय की पाबंदी 63 प्रतिशत थी।

SBI को निपटान प्रक्रिया से 30,000 करोड़ रुपए की वसूली की उम्मीद

उन्होंने कहा कि आठ जून 2018 को यह गिरकर 53 प्रतिशत हो गयी थी। उन्होंने कहा, ट्रेनों की समय की पाबंदी अब डेटा लॉगर द्बारा दर्ज की जा रही है जबकि पहले यह हाथ से की जाती थी। अब यदि ट्रेन एक मिनट भी देर से पहुंचती है तो उसे विलंब से आने के तौर पर दर्ज किया जाता है। इससे इस वर्ष समय की पाबंदी आंकडों में बड़ा अंतर आया है। वहीं काफी कार्य जारी रहने के बावजूद समय की पाबंदी दर में मात्र दस प्रतिशत की गिरावट आयी है। 

प्लास्टिक प्रतिबंध के मामले में भारत ने वैश्विक नेतृत्व दिखाया: संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण प्रमुख

चौबे ने कहा कि जोन में ट्रेनों की संख्या 2008 में जहां 1300 थी , वह 2018 में बढ़कर 1800 हो गई , हालांकि आधारभूत ढांचा उतनी गति से नहीं बढ़ा। उन्होंने कहा, इसलिए क्षमता में बढ़ोतरी जरूरी है। यार्ड में इतनी ट्रेनों को संभालने की क्षमता नहीं है।-एजेंसी 

भारत ने डब्ल्यूटीओ में निवेश जैसे मुद्दे शामिल करने का किया विरोध

निर्यातकों को 7000 करोड़ रुपये के जीएसटी रिफंड को मंजूरी

सीआईएल ने नाभा पावर के आरोप का किया खंडन


 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.