नि:शुल्क सार्वजनिक वाई-फाई से दूरसंचार कंपनियों के राजस्व में तीन अरब डालर वृद्धि की संभावना

Samachar Jagat | Monday, 09 Jul 2018 02:46:10 PM
The probability of a three billion dollar increase in revenue of telecom companies by Free public Wi-Fi

नई दिल्ली। सार्वजनिक तौर पर नि:शुल्क वाई - फाई के प्रसार से दूरसंचार कंपनियों को 2017-19 के दौरान तीन अरब डॉलर के संभावित राजस्व का अवसर प्राप्त हो सकता है। इससे कंपनियों को नए उपभोक्ता जोड़ने में तथा मौजूदा उपभोक्ताओं के डेटा उपभोग बढ़ाने में मदद मिलेगी। एक रिपोर्ट में यह बात कही गई है।

नीति आयोग तय करेगा राज्य परिवहन निगमों के लिए इलेक्ट्रिक वाहनों का लक्ष्य

गूगल के एनालिसिस मैसन के अध्ययन के अनुसार, सार्वजनिक वाई - फाई का इस्तेमाल करने वाले लोगों के एक बड़े हिस्से का कहना है कि वे तेज इंटरनेट का इस्तेमाल जारी रखने के लिए नया मोबाइल ब्राडबैंड सिम कार्ड खरीदने को इच्छुक हैं। मोबाइल इंटरनेट का इस्तेमाल कर चुके लोगों के एक हिस्से ने गूगल - रेलटेल के तेज वाई-फाई का इस्तेमाल करने के बाद अपना मौजूदा डेटा प्लान अपग्रेड करने की इच्छा जाहिर की।

सौभाग्य योजना के तहत वितरण कंपनियों को मिलेगा 50 करोड़ रुपए का इनाम

उसने कहा , '' नि:शुल्क तेज वाई-फाई से बढ़ने वाली मांग में इतनी संभावनाएं हैं कि इससे 2017 से 2019 के बीच अन्य सेवा प्रदाताओं का राजस्व करीब तीन अरब डॉलर बढ़ सकता है। ’’ रेलटेल कार्पोरेशन भारतीय रेल की दूरसंचार इकाई है। अध्ययन के मुताबिक 14 प्रतिशत लोगों ने कहा है कि हाई-स्पीड डाटा का अनुभव मिलने के बाद वह अपने स्मार्टफोन को अपग्रेड करने के इच्छुक हैं। इसमें वह 5.9 डालर मासिक अतिरिक्त खर्च करने को भी तैयार हैं।

सामान्य करदाताओं के अनुचित आकलन पर अंकुश लगाए विभाग, गड़बड़ी करने वाले अधिकारियों पर हो कार्रवाई

रिपोर्ट के अनुसार भारत में वाई-फाई बाजार की सफलता से 2019 तक 60 करोड़ और लोग सार्वजनिक वाई-फाई सेवा से जुड़ सकते हैं। इसे वास्तविकता में बदलने के लिए देशभर में 30 लाख नए वाई-फाई बिदु तैयार करने होंगे। इसमें तीसरी श्रेणी के शहर और गांवों को भी शामिल करना होगा। एजेंसी

वार्षिक रिटर्न फार्म पर 21 जुलाई को विचार करेगी जीएसटी परिषद



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.