फिल्मों में कारों को उड़ाने वाले रोहित शेट्टी दर्शकों की इस बात से हो जाते हैं बेचैन

Samachar Jagat | Saturday, 22 Sep 2018 06:54:51 PM
Rohit Shetty gets restless with the viewers' displeasure

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

मुंबई। बॉलीवुड में बनने वाली कॉमर्शियल फिल्मों के सबसे कामयाब निर्देशकों में शुमार किए जाने वाले रोहित शेट्टी का कहना है कि दर्शकों का प्यार और उनसे मिलने वाली स्वीकार्यता उन्हें हर फिल्म में बेहतरीन काम करने की प्रेरणा देती है। रोहित ने कहा कि उनका मकसद लोगों का मनोरंजन करना है और वह चाहते हैं कि आलोचकों की अच्छी-बुरी टिप्पणियों के बाद भी दर्शक उनकी फिल्मों का आनंद उठाएं।


ऐसी फिल्म नहीं करूंगा जिसे देख आराध्या असहज महसूस करे : अभिषेक

उन्होंने कहा कि जब भी मैं कुछ लिखता हूं, कोई फिल्म बनाता हूं या फिर उसका संपादन करता हूं तो मैं दर्शकों, खासकर ऐसे लोगों के बारे में सोचता हूं जो मेरी फिल्मों को पसंद करते हैं। मैं चाहता हूं कि वे मेरी फिल्मों का आनंद लें। रोहित ने शुक्रवार को जागरण सिनेमा सम्मेलन में कहा कि जब दर्शक खुश होते हैं तो मैं बहुत खुश होता हूं। जब वे हंसते-मुस्कुराते हैं तो यह मुझे बेहद खुशी देता है। अगर कोई शख्स फिल्म देखने जाता है तो वह अपनी कमाई का 10 प्रतिशत खर्च करता है। इसलिए मुझे यह ख्याल रखना चाहिए कि उनका मनोरंजन हो। अगर दर्शक खुश नहीं तो मैं भी बेचैन हो जाता हूं। निर्देशक ने कहा कि जब उनकी फिल्म रिलीज होती है तो उनकी टीम दर्शकों की प्रतिक्रिया जानने के लिये थियेटर जाती है।

रणवीर सिंह होंगे सबसे बड़े सुपरस्टार : रोहित शेट्टी

उन्होंने कहा कि जब भी मेरी फिल्म रिलीज होती है तो मेरी टीम मेरे लिए निजी तौर पर सिनेमाघरों में जाकर देखती है और दर्शकों की प्रतिक्रिया समझती है। मेरा मानना है कि रियलिटी चेक होना चाहिए। मेरे पास एक टीम है जो कई साल से मेरे साथ काम कर रही है और हमारे बीच भावनात्मक जुड़ाव है। वे जो भी सलाह मुझे देते हैं मैं उन पर सोचता हूं।

ऑस्कर पुरस्कार 2019 में भारत का प्रतिनिधित्व करेगी रीमा दास की राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता फिल्म विलेज रॉकस्टार्स

उन्होंने कहा कि सिनेमा हमेशा से बदलता और विकसित होता रहा है। जब मनमोहन देसाई ‘अमर अकबर एंथनी’ बना रहे थे और जब ऋषिकेश मुखर्जी ने ‘मिली’ बनाई तब भी सिनेमा बदल रहा था। पहले व्यावसायिक और समानांतर या कला फिल्म होती थी और मल्टीप्लेक्स किस्म की फिल्म होती हैं। अच्छी फिल्म अच्छी ही होती है और खराब फिल्म खराब। निर्देशक ने यह भी कहा कि अगर वह कभी जीवनी आधारित फिल्म बनाएंगे तो वह मराठा योद्धा छत्रपति शिवाजी महाराज पर होगी।

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.