पाकिस्तान: हिंदू मेडिकल छात्रा की संदिग्ध हालात में मौत, भाई ने कहा कि ये खुदकुशी नहीं हत्या है

Samachar Jagat | Wednesday, 18 Sep 2019 12:17:07 PM
Pakistan: Hindu medical student dies under suspicious circumstances, brother said it is not a suicide but a murder

इंटरनेट डेस्क। पाकिस्तान में एक हिन्दू लड़की की संदिग्ध हालत में मौत हो गई। मृतका के भाई ने कहा कि उसकी बहन की मौत को पाक का प्रशासन खुदकुशी बता रहा है, जबकि हकीकत में उसकी बहन की हत्या की गई है। पाकिस्तान में एक हिंदू मेडिकल छात्रा की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। छात्रा का नाम नम्रता चंदानी बताया गया है।


loading...

नम्रता लरकाना के बीबी आसिफा डेंटल कॉलेज में बीडीएस लास्ट सेमेस्टर की स्टूडेंट थीं। नम्रता का शव उनके हॉस्टल के कमरे में पलंग पर मिला। गले में रस्सी बंधी हुई थी। पुलिस मामले की जांच कर रही है। अब तक यह तय नहीं हो सका है कि नम्रता ने खुदकुशी है या उनकी हत्या की गई। पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों पर हो रहे हमलों के बीच मेडिकल छात्रा की मौत ने नए सवाल खड़े कर दिए हैं। नम्रता के भाई डॉक्टर विशाल ने बताया कि यह खुदकुशी नहीं, कत्ल है। हम लोगों से मदद की अपील करते हैं। नम्रता मूल रूप से मीरपुर जिले के घोटकी की रहने वाली थीं। उनका परिवार फिलहाल कराची में रहता है।

परिजन को घटना की जानकारी दे दी गई है। शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है और हॉस्टल का कमरा भी सील कर दिया गया है। नम्रता के दोस्तों के मुताबिक, वह जिंदादिल लड़की थी और घटना से पहले किसी प्रकार के तनाव में नहीं दिखी। सोमवार को मौत के चंद घंटे पहले उन्हें कॉलेज की कैंटीन में दोस्तों के साथ गपशप करते देखा गया था। नम्रता के कमरे का दरवाजा अंदर से बंद था लेकिन खिड़की खुली हुई थी। हत्या का शक इसलिए भी है क्योंकि पंखे या किसी और चीज से रस्सी बांधने का कोई सबूत नहीं मिला। रस्सी भी काफी छोटी है। सोमवार को जब उन्होंने काफी देर तक दरवाजा नहीं खोला तो दोस्तों ने दरवाजा तोड़ दिया।

नम्रता का शव पलंग पर मिला। उनका चेहरा नीचे की तरफ था। वाइस चांसलर अनिला रहमान ने कहा- पहली नजर में यह खुदकुशी का मामला लगता है, लेकिन पुख्ता जानकारी जांच के बाद ही सामने आ सकेगी। 1 जनवरी 2017 को इसी हॉस्टल में छात्रा नायला रिंद की भी संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। 
 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.