सावन के महीने में करें इस एक मंत्र का जाप, मिलेगा 12 ज्योतिर्लिंगों के दर्शनों का फल

Samachar Jagat | Monday, 06 Aug 2018 05:29:14 PM
Chant this mantra in the month of Savan

धर्म डेस्क। हिंदू शास्त्रों के अनुसार तीन देवों ने मिलकर इस सृष्टि को संभाल रखा है। ब्रह्मा जी को उत्पत्तिकर्ता माना गया है, भगवान विष्णु पालनकर्ता हैं और भगवान शिव को संहारकर्ता माना गया है। सावन का महीना भोलेनाथ की भक्ति और उन्हें प्रसन्न करने का महीना होता है। सावन के महीने में भगवान शिव की पूजा के साथ ही कुछ लोग 12 ज्योतिर्लिंगों के दर्शनों का लाभ भी उठाते हैं। भगवान शिव के 12 ज्योतिर्लिंगों का हिंदू धर्म में बहुत महत्व है, ये माना जाता है कि जो शिव के इन 12 ज्योतिर्लिंगों के दर्शन कर लेता है। उसे जन्म-मृत्यु के चक्र से छुटकारा मिल जाता है और व्यक्ति को मोक्ष की प्राप्ति होती है। 

भगवान ने भी पृथ्वी पर जन्म लेकर सच्ची मित्रता की मिसाल की कायम

If you want to fulfill the desire, then give it to Bholenath in the Sawan Month

वहीं जो लोग 12 ज्योतिर्लिंगों के दर्शन के लिए नहीं जा सकते हैं वे घर बैठे ही श्रावण मास में एक विशेष मंत्र का जाप करके 12 ज्योतिर्लिंगों के दर्शनों से जो लाभ प्राप्त होता है वह लाभ प्राप्त कर सकते हैं।  जो व्यक्ति सच्चे मन से भगवान शिव के इस मंत्र का जाप करता है भोलेनाथ उससे प्रसन्न होकर व्यक्ति की सभी मनोकामनाएं पूरी करते हैं। आइए आपको बताते हैं इस चमत्कारी मंत्र के बारे में ......

अगर भगवान शिव के क्रोध से बचना चाहते हैं तो शिवलिंग पर भूलकर भी ना चढ़ाएं ये फूल

एक मंत्र से करें 12 ज्योतिर्लिंगों की पूजा

सौराष्ट्रे सोमनाथश्च श्रीशैले मल्लिकार्जुनम्।
उज्जयिन्नां महाकालमोंकारममलेश्मवरम्।
केदारं हिमवत्पृष्ठे डाकिन्यां भीमशंकरम्।
वाराणस्याश्च विश्वेशं र्त्यम्बकं गौतमीतटे।
वैद्यनाथं चिताभूमौ नागेशं दारुकावने।
सेतुबन्धे च रमेशं घुश्मेशश्च शिवालये।

(इस आलेख में दी गई जानकारियां धार्मिक आस्थाओं और लौकिक मान्यताओं पर आधारित हैं, जिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है।)

अगर आप भी चाहते हैं कि आपका नया प्लॉट वास्तुदोष से मुक्त हो तो इन चीजों का रखें ध्यान

अगर चाहते हैं कि माता लक्ष्मी आप पर रहें मेहरबान तो इस तरह से अपनी झाडू का रखें ध्यान



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.