11 अक्टूबर: एक क्लिक में पढ़ें दिनभर की 10 बड़ी खबरें

Samachar Jagat | Thursday, 11 Oct 2018 04:20:17 PM
11 october top 10 news in hindi

आतंकवाद के खिलाफ संरा के प्रस्तावों का अनुपालन सुनिश्चित करने की आवश्यकता

Need to ensure compliance with proposals of terror against terrorism

संयुक्त राष्ट्र। संयुक्त राष्ट्र महासभा की अध्यक्ष मारिया फर्नांडिस एस्पिनोसा ने कहा है कि आतंकवाद के खिलाफ संयुक्त राष्ट्र के प्रस्तावों का अनुपालन सुनिश्चित करने की आवश्यकता है और आतंकवाद को वैश्विक खतरा मानने की साझा समझ के साथ इन प्रस्तावों को लागू करने में होने वाली खामियों को दूर करना चाहिए।

एस्पिनोसा ने कहा कि हालांकि कॉम्प्रिहेंसिव कन्वेंशन अगेंस्ट इंटरनेशनल टेरेरिजम (सीसीआईटी) को अंगीकार करने की प्रक्रिया धीमी है लेकिन इसका यह मतलब नहीं है कि संयुक्त राष्ट्र कुछ कर नहीं रहा है अथवा आतंकवाद निरोधक पहलों में प्रगति नहीं हुई है।

उन्होंने यहां पीटीआई भाषा से विशेष साक्षात्कार में कहा कि साझा समझ है कि आतंकवाद वैश्विक खतरा है और आंतकवाद से निपटने के लिए प्रयास किए जाने चाहिए। यह किसी एक देश की पहल नहीं है। यह सामूहिक जिम्मेदारी होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि चीजें हो रही हैं, इसमें सहयोग और प्रतिबद्धता दोनों ही हैं। हमें वास्तव में इन्हें लागू करने में खामियों को कम करना है।

मुझे इसे स्वीकार करना होगा। हम प्रत्येक वर्ष अनेक प्रस्ताव परित करते हैं और हमें इस बात को गंभीरता से लेना होगा कि ये लागू हों, इनका अनुपालन हो। उन्होंने कहा कि आंतकवाद-विरोध के मुद्दे से निपटने के दृष्टिकोण भिन्न हैं।

उल्लेखनीय है कि भारत ने 1996 में संयुक्त राष्ट्र में सीसीआईटी का मसौदा पेश किया था लेकिन यह मसौदा अब भी मसौदा ही है क्योंकि संयुक्त राष्ट्र सदस्य देशों के बीच इस पर एक राय नहीं है। एस्पिनोसा ने स्वीकार किया कि सीसीआईटी पर भारत की पहल बेहद दिलचस्प है और इसकी स्वीकार्यता बढ़नी चाहिए।

दुर्गापूजा समितियों को धन देने संबंधी फैसले के खिलाफ दायर याचिका पर सुनवाई करेगा कोर्ट 

Court to hear petition against decision to fund Durgapuja committees

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने बृहस्पतिवार को कहा कि वे दुर्गा पूजा समितियों को धन देने के पश्चिम बंगाल सरकार के फैसले को चुनौती देने वाली याचिका पर शुक्रवार को सुनवाई करेगा। गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल सरकार ने प्रदेश की 28,000 दुर्गा पूजा समितियों को 10-10 हजार रुपए देने का फैसला किया है।

इस संबंध में दायर एक याचिका पर बुधवार को सुनवाई करते हुए कलकत्ता उच्च न्यायालय ने कहा था कि धन को खर्च करने का फैसला विधायिका लेती है और उस फैसले में वह इस स्तर पर हस्तक्षेप नहीं करेगा।

प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई, न्यायमूर्ति एस. के. कौल और न्यायमूर्ति के.एम. जोसफ की पीठ को अधिवक्ता सौरभ दत्ता ने सूचित किया कि कलकत्ता उच्च न्यायालय ने बुधवार को दुर्गा पूजा समितियों को धन देने के ममता बनर्जी सरकार के फैसले में हस्तक्षेप करने से इनकार कर दिया है
उच्च न्यायालय के फैसले के खिलाफ शीर्ष अदालत पहुंचे अधिवक्ता दत्ता ने पीठ से कहा कि राज्य सरकार का फैसला कानून की स्थापित परंपरा के खिलाफ है और उनकी याचिका पर तुरंत सुनवाई होनी चाहिए।

760 अंक की गिरावट के साथ 34,001 के स्तर पर बंद हुआ सेंसेक्स

Sensex closes at 34,001 level with 760 points down

मुंबई। जब आज सुबह शेयर बाजार खुला तो उसमें गिरावट देखी गयी, सेंसेक्स और निफ्टी दोनों ने ही गिरावट के साथ लाल निशान पर कारोबार की शुरुआत की और कारोबार की समाप्ति पर भी ये बढ़त बनाने में नाकामयाब रहा। गिरावट के इस माहौल में कारोबार की समाप्ति पर बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का तीस शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 759.74 अंक यानि 2.19 प्रतिशत की गिरावट के साथ 34,001.15 के स्तर पर बंद हुआ। सेंसेक्स की तरह ही नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के पचास शेयरों वाले निफ्टी पर भी कारोबार की समाप्ति पर गिरावट हावी रही और ये 225.45 अंक यानि 2.16 प्रतिशत की गिरावट के साथ 10,234.65 के स्तर पर बंद हुआ। 

गौरतलब है कि कल सुबह जब शेयर बाजार में कारोबार शुरू हुआ तो इसमें बढ़त देखने को मिली और कारोबार की समाप्ति पर भी ये बढ़त के साथ हरे निशान पर बंद हुआ। काराबोर की शुरुआत में बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज ( बीएसई ) का तीस शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 149.03 अंक यानि 0.43 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 34,448.50 के स्तर पर खुला और काराबोर की समाप्ति पर ये  461.42 अंक यानि 1.35 प्रतिशत की बढ़त के साथ 34,760.89 के स्तर पर बंद हुआ।

वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ( एनएसई ) का पचास शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स निफ्टी भी काराबोर की शुरुआत में 48.05 अंक यानि 0.47 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 10,349.10 के स्तर पर खुला और काराबोर की समाप्ति पर ये 159.05 अंक यानि 1.54 प्रतिशत की बढ़त के साथ 10,460.10 के स्तर पर बंद हुआ। 

#MeToo पर चुप्पी तोड़े बगैर आमिर खान ने लिया बड़ा फैसला, अब नहीं करेंगे इस निर्देशक की फिल्म में काम

Aamir Khan took a big decision, now will not work in director subhash kapoor's film Mogul

मुंबई। फिल्म इंडस्ट्री में #MeToo का असर जोर पकड़ रहा हैं। तनुश्री दत्ता से शुरु हुआ अब ये विवाद एक बड़ा मुद्दा बन रहा हैं। यौन उत्पीड़न को लेकर भले ही बॉलीवुड के मिस्टर परफेक्शनिस्ट आमिर खान ने कुछ नहीं कहा मगर उनके एक फैसले ने उन्हें खबरों में ला दिया हैं। जी हां खबरों की मानें तो आमिर खान बॉलीवुड की अपकमिंग बायोपिक फिल्म मुगल का हिस्सा थे जिसे अब उन्होंने छोड़ दिया हैं। बताते चलें कि आमिर और उनकी पत्नी अब इस फिल्म का हिस्सा नहीं हैं।

मीडियारिपोर्ट्स की मानें तो सामने आ रहा है कि आमिर ने ये फैसला फिल्म के डायरेक्टर सुभाष कपूर पर लगे यौन उत्पीड़न के आरोप के बाद लिया हैं। इस फिल्म से उनकी पत्नी भी जुड़ी हुई थी। बताते चलें कि फिल्म के निर्देशक सुभाष पर छेड़खानी के आरोप हैं।

वहीं दूसरी तरफ मुगल के सह-निर्माता भूषण कुमार ने बुधवार को कहा कि कपूर को काम से हटा दिया गया है। भूषण ने कहा, ''हमें पता चला कि निर्देशक के खिलाफ कार्यवाही चल रही है, जिसे देखते हुए टी-सीरीज में सभी ने निर्देशक के साथ काम नहीं करने का फैसला किया है।"

आमिर एवं उनकी फिल्मकार पत्नी किरण राव की ओर से संयुक्त रूप से जारी बयान के अनुसार, ''आमिर खान प्रोडक्शंस में हमारी हमेशा से यौन कदाचार और किसी किस्म के भहसक बर्ताव को कतई बर्दाश्त नहीं करने की नीति रही है।"

ये है पूरा मामला

गीतिका त्यागी ने कपूर पर उनसे छेडख़ानी करने का आरोप लगाया है। अप्रैल 2014 में अभिनेत्री गीतिका त्यागी ने वर्सोवा पुलिस थाना में एक शिकायत दर्ज कराते हुए सुभाष कपूर पर आरोप लगाया था। अपनी शिकायत में गीतिका ने कहा था, कपूर ने दो साल पहले उनसे बलात्कार करने की कोशिश की। इसके बाद कपूर को गिरफ्तार कर लिया गया और अभी वह 10,000 रुपये जमा करने के बाद जमानत पर चल रहे हैं।

2014 में गुप्त कैमरे से बनाये गये एक वीडियो में उभरती अभिनेत्री त्यागी, कपूर और उनकी पत्नी नजर आ रहे हैं। वीडियो में त्यागी कपूर को थप्पड़ मारती दिख रही हैं। अभिनेत्री ने यह वीडियो सोशल मीडिया पर साझा किया था। वहीं दूसरी तरफ निर्देशक ने इंटरनेट पर यह वीडियो साझा करने की त्यागी की मंशा पर सवाल उठाया।

उन्होंने कहा,  मैं एक सवाल पूछना चाहता हूं कि किसी रोती-बिलखती महिला की इजाजत और जानकारी के बगैर गुप्त तरीके से वीडियो बनाना और फिर सोशल मीडिया पर उसे डालना क्या उत्पीडऩ या दुव्र्यवहार नहीं है। या फिर यह ठीक है जब वह किसी ऐसे व्यक्ति से जुड़ी हो जिसने 'कथित तौर पर गलत व्यवहार' किया हो। अगर आपका जवाब बाद वाला है तो निश्चित रूप से मेरे लिये यह एक खाप पंचायत की मानसिकता से कम नहीं है।"

INX मीडिया मामला: ईडी ने भारत, ब्रिटेन, स्पेन में कार्ति की 54 करोड़ रुपए की संपत्ति कुर्क की

INX Media Case

नई दिल्ली। प्रवर्तन निदेशालय ने बृहस्पतिवार को बताया कि उसने आईएनएक्स मीडिया धन शोधन से जुड़े एक मामले में पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम के पुत्र कार्ति की भारत, ब्रिटेन और स्पेन स्थित 54 करोड़ रुपए मूल्य की संपत्ति कुर्क की है।

कार्ति ने केन्द्रीय एजेंसी की इस कार्रवाई को बेतुका और विचित्र बताया है। केन्द्रीय जांच एजेंसी ने धन शोधन निवारण कानून (पीएमएलए) के तहत कार्ति की संपत्ति कुर्क करने के लिए एक अस्थाई आदेश जारी किया था। इस आदेश के तहत तमिलनाडु के कोडैक्कानल और ऊटी में कृषि भूमि तथा एक बंगला कुर्क किया गया है।

दिल्ली के जोरबाग स्थित 16 करोड़ रुपए मूल्य का एक फ्लैट भी कुर्क किया गया है जो कार्ति और उनकी मांग नलिनी के नाम पर है। ईडी का कहना है कि इस संपत्ति में कार्ति की 50 प्रतिशत हिस्सेदारी है। एजेंसी ने कहा कि उसी आदेश के तहत ईडी ने ब्रिटेन के समरसेट में एएससीपीएल के मालिकाना हक वाले 8.67 करोड़ रुपए मूल्य का कॉटेज और स्पेन के बार्सिलोना में करीब 14.57 रुपए मूल्य का टेनिस क्लब भी कुर्क किया गया है।

आदेश पर प्रतिक्रिया देते हुए कार्ति ने ट्वीट किया, ''अस्थाई कुर्की का यह बेतुका और विचित्र आदेश है जो कानूनी तथ्यों पर नहीं बल्कि अजीबो-गरीब अनुमानों पर आधारित है। इसका मकसद सिर्फ सुर्खियों में बना रहना है। उन्होंने कहा कि यह आदेश न्यायिक समीक्षा, अपील के समक्ष नहीं टिकेगा।

हम उचित कानूनी मंच पर चुनौती देंगे। उसने कहा कि एडवांटेज स्ट्रैटेजिक कंसल्टिंग प्राइवेट लिमिटेड (एएससीपीएल) के नाम पर चेन्नई के एक बैंक में रखी गई 90 लाख रुपए की सावधि जमा को भी कुर्क किया गया है। एजेंसी का कहना है कि संपत्तियां कार्ति और उनसे कथित रूप से जुड़ी कंपनी एडवांटेज स्ट्रैटेजिक कंसल्टिंग प्राइवेट लिमिटेड के नाम पर हैं। उन्होंने कहा कि कुर्क की गई संपत्तियों की कुल कीमत 54 करोड़ रुपए है।

इंडोनेशिया में भूकंप के तेज झटके, तीन लोगों की मौत

Earthquake shocks in Indonesia, three people die

जर्काता। इंडोनेशिया के जावा और बाली द्बीपों में गुरुवार को जोरदार भूकंप में कम से कम 3 लोगों की मौत हो गई। भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 6.0 आंकी गई है। राष्ट्रीय आपदा एजेंसी के प्रवक्ता सुतोपो पुरवो नुगरोहो ने न्यूएशिया चैनल को बताया कि पूर्वी जावा के सुमेनेप जिले में कई इमारतें भूकंप के झटकों से ढह गई और इनमें काफी लोगों के दबे होने की आशंका है।

उन्होंने बताया कि'भूकंप के समय लोग घरों में सो रहे थे और इस कारण उन्हें बाहर निकलने का समय नहीं मिल पाया। अमेरिकी भूगर्भ सर्वेक्षण के मुताबिक भूकंप का केन्द्र बाली समुद्र से लगभग 40 किलोमीटर पूर्व जावा द्बीप में सतह से 10 किलोमीटर की गहराई पर था और बाली के होलीडे द्बीप के डेनपासार में भी इसे महूसस किया गया।

अमेरिकी भूर्गीय सर्वेक्षण के आंकड़ों के मुताबिक भूकंप जमीन। गहराई कम होने के कारण अधिक नुकसान हो सकता है। इससे दो घंटे पहले पापुआ न्यू गुनी में 7.0 तीव्रता के भूकंप के झटके महसूस किए गए। इसे देखते हुए अधिकारियों ने 2 घंटे पहले जारी सुनामी चेतावनी रद्द कर दी है।

राहुल गांधी बोले, राफेल में हुई है दलाली, इस्तीफा दें मोदी

Rafael has been brokerage, resigns Modi

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राफेल लड़ाकू विमान सौदे को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर सीधा हमला करते हुए गुरुवार को कहा कि देश के प्रधानमंत्री भ्रष्टाचारी हैं और वह रक्षा सौदे में हुए भ्रष्टाचार में सीधे तौर पर लिप्त हैं इसलिए उन्हें इस्तीफा देना चाहिए।

गांधी ने यहां पार्टी मुख्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा राफेल खरीद में बड़ा भ्रष्टाचार हुआ है। संसद की संयुक्त समिति से इसकी जांच कराई जानी चाहिए। जांच से दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा। इसमें प्रधानमंत्री ने सीधे-सीधे भ्रष्टाचार किया है और उनकी भी जांच होनी चाहिए।

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि राफेल खरीद में जिस तरह से सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी एचएएल से ठेका छीनकर कर उद्योगपति अनिल अम्बानी की कंपनी को यह काम दिया गया है उससे साफ है कि खुद को देश का चौकीदार बताने वाले मोदी ने अनिल अम्बानी के चौकीदार हैं।यह सीधा भ्रष्टाचार का मामला है और मोदी ने यह भ्रष्टाचार किया है इसलिए उन्हें इस बारे में जवाब देना चाहिए या फिर वह इस्तीफा दें।

ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज स्पिनर शेन वार्न ने सचिन तेंदुलकर के बारे में कही ये बड़ी बात! आपकों भी होगी हैरानी

Warne said will give Tendulkar a chance to bat for the sake of life

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट के लिए भगवान माने जाने वाले सचिन तेंदुलकर के बारे में अपने ‘दुस्वप्नों’ को मजाक बताने के आठ वर्षों बाद महान स्पिनर शेन वार्न ने बुधवार को कहा है कि जिंदगी की खातिर बल्लेबाजी के लिए वह इस भारतीय स्टार को ही चुनेंगे। शेन वार्न ने तेंदुलकर और ब्रायन लारा के बीच तुलना के विवाद में पडऩे से इंकार करते हुए किसी को भी अपनी पीढ़ी का सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज नहीं चुना लेकिन उन्होंने इतना कहा कि अगर जिंदगी दांव पर लगी हो और इसके लिए किसी को बल्लेबाजी करने की बात आएगी तो वह निश्चित रूप से तेंदुलकर को चुनना चाहेंगे।

वार्न ने अपनी आत्मकथा ‘नो स्पिन’ के बारे में बात करते हुए एक समाचार चैनल से कहा कि, सचिन तेंदुलकर और ब्रायन लारा हमारी पीढ़ी, मेरे समय के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज थे। टेस्ट सीरीज के अंतिम दिन शतक जडऩे के लिए मैं किसी को चुनना चाहूंगा तो मैं लारा को बल्लेबाजी के लिए भेजूंगा। लेकिन अगर मैं अपनी जिदंगी की खातिर बल्लेबाजी के लिए भेजना चाहूंगा तो मैं तेंदुलकर को चुनूंगा जो बेहतरीन हैं। तेंदुलकर ने 1998 में शारजाह में तीन देशों के टूर्नामेंट में इस ऑस्ट्रेलियाई महान गेंदबाज की गेंदों को धुन दिया था।

इसके बाद वार्न ने यहां तक कह दिया था कि उन्हें तेंदुलकर के बारे में दुस्वप्न आते हैं। हालांकि 2010 में इस ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी ने कहा कि उन्होंने मजाक में ये बातें कहीं थीं। अपनी आत्मकथा में उन्होंने सट्टेबाजों के आरोपों, अपने बच्चों और रिश्तों के बारे में लिखा है। उन्होंने यह भी कहा है कि टेस्ट मैचों में अन्य देशों की तुलना में भारत में उनके खराब रिकॉर्ड का असर उन पर नहीं पड़ता।

उन्होंने कहा है कि कोई पछतावा नहीं है। भारत में दो दौरों के दौरान मेरे कंधे और अंगुली का ऑपरेशन हुआ था जो सचमुच काफी निराशाजनक था। भारतीय टीम में तब सचिन, द्रविड़, गांगुली, लक्ष्मण और सहवाग हुआ करते थे। मैंने अपना सर्वश्रेष्ठ किया लेकिन वे काफी बेहतरीन थे। 

बिग बॉस कपल युविका-प्रिंस के घर शुरु हुई शादी की रस्में, देखें मेहंदी की तस्वीरें

 yuvika chaudhary and prince narula are going to marry photos Viral photos on social media

एंटरटेनमेंट डेस्क। बिग बॉस के घर से शुरु हुआ युविका चौधरी और प्रिंस नरुला का प्यार अब शादी के बंधन में बंधने जा रहा हैं। जी हां बिग बॉस के घर के बाहर भी अपने रिलेशनशिप को लेकर सुर्खियां बटौर चुके प्रिंस और युविका 12 अक्टूबर को शादी करने जा रहे हैं। शादी की रस्में शुरु हो चुकी हैं। शादी से पहले गुरुवार को मेहंदी फंक्शन का आयोजन हुआ। जिसकी कुछ तस्वीरें सोशल मीडिया पर जबरदस्त वायरल हो रही हैं।

जी हां वायरल हो रही इन तस्वीरों में युविका और प्रिंस दोनों ही बेहद खूबसूरत नजर आ रहे हैं। जहां युविका ने अपनी मेहंदी पर हरे रंग का लहंगा-चोली पहना था जिसके साथ उन्होंने व्हाइट कलर की फ्लवर ज्वैलरी पहन रखी। इस लुक में युविका किसी परी से कम नहीं लग रही थी।

वहीं प्रिंस ने व्हाइट रंग का कुर्ते में नजर आए। अपनी मेहंदी सेरेमनी में युविका ने प्रिंस के साथ जमकर ठुमके लगाए जिसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा हैं। शादी के फंक्शन में कुछ टीवी स्टार्स ने भी अपनी मौजूदगी दर्ज कराई।

प्रिंस और युविका के इस मौके पर किश्वर मर्चेंट, रश्मि देसाई जैसे कलाकार शामिल थे। इनके रिश्ते को लेकर बात करें तो प्रिंस और युविका की मुलाकात पहली बार रियलिटी शो बिग बॉस सीजन 9 के दौरान हुई थी। शो के दौरान ही दोनों की पक्की दोस्ती हुई और एक दुसरे को पसंद करने लगे।  जिसके बाद ही दोनों की लव स्टोरी आगे बढ़ी। 

भारत बनाम वेस्टइंडीज: क्लीन स्पीप के इरादे से मैदान में उतरेगी भारतीय टीम

India will go for a clean sweep of 2-0 on the West Indies

हैदराबाद। वेस्टइंडीका के खिलाफ अपने टेस्ट इतिहास की सबसे बड़ी जीत दर्ज करने के बाद नंबर वन भारतीय क्रिकेट टीम शुक्रवार से हैदराबाद में शुरू होने जा रहे दूसरे क्रिकेट टेस्ट में भी जीत के साथ विंडीज पर 2-0 की क्लीन स्वीप के इरादे से उतरेगी।

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने मैच से एक दिन पूर्व गुरुवार को राजकोट टेस्ट की अपनी 12 सदस्यीय टीम को बिना बदलाव के दूसरे मैच में भी उतारने की घोषणा कर दी। ऐसे में उम्मीद है कि कप्तान विराट कोहली अपने 42 टेस्टों की कप्तानी में दूसरी बार बिना बदलाव के अंतिम एकादश को हैदराबाद में उतार दें।

चयनकर्ताओं ने बिना बदलाव के टीम उतारी है जिससे बल्लेबाज मयंक अग्रवाल को एक बार फिर पदार्पण का मौका नहीं मिल सका है और उनके आगामी ऑस्ट्रेलिया दौरे को लेकर भी खेलने पर अब असमंजस बन गया है। लेकिन इस अहम दौरे से पूर्व भारतीय टीम प्रबंधन के पास ओपनिंग जोड़ी तथा मध्यक्रम के संयोजन को फिर से परखने का मौका रहेगा।

राजकोट टेस्ट में पदार्पण बल्लेबाज एवं ओपनर पृथ्वी शॉ ने अपने लाजवाब प्रदर्शन से सभी को प्रभावित किया था लेकिन उनसे अब इसी लय में खेलने की उम्मीद रहेगी जबकि कप्तान विराट के पास इस मैच में पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर इंजमाम उल हक के 25 टेस्ट शतकों की बराबरी कर सकते हैं। हालांकि टीम में कई बल्लेबाज हैं जिनका प्रदर्शन सवालों के घेरे में हैं।

 



 
loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.