कानपुर रेल हादसे में अब तक 128 की मौत, जांच के आदेश

Samachar Jagat | Monday, 21 Nov 2016 07:58:49 AM
कानपुर रेल हादसे में अब तक 128 की मौत, जांच के आदेश

कानपुर। कानपुर जिले के पुखरायां में रविवार सुबह इंदौर से पटना जा रही इंदौर-राजेंद्र नगर एक्सप्रेस दुर्घटनाग्रस्त हो गई। इस हादसे में अबतक 128 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 100 से अधिक लोग घायल हैं। घायलों में कई की हालत बेहद गंभीर है। रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने पीडि़तों से मुलाकात की और हर संभव मदद का आश्वासन दिया। उन्होंने घटना की जांच के आदेश भी दे दिए। विपक्षी दलों ने इस हादसे की उच्चस्तरीय जांच की मांग की है। कानपुर के पुलिस महानिरीक्षक जकी अहमद ने कहा, हादसे में 120 लोगों की मौत हो चुकी है और 40 घायलों को विभिन्न अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। मामूली घायलों को प्राथमिक उपचार देने के बाद छुट्टी दे दी गई है। मृतकों का आंकड़ा बढ़ सकता है क्योंकि घायलों में कई की हालत गंभीर है। उन्होंने कहा कि मृतकों में शामिल करीब 60 लोग उत्तर प्रदेश एवं मध्य प्रदेश से थे। घायलों का हालचाल जानने हैलट अस्पताल पहुंचे रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा, पुखरायां हादसे की उच्चस्तरीय जांच के आदेश दिए गए हैं। रेलवे राज्य सरकार के साथ मिलकर राहत पहुंचाने की कोशिश कर रही है। रेलवे बोर्ड के चेयरमैन, डीजी (स्वास्थ्य सेवाएं) मौके पर पहुंच गए हैं। राहत एवं बचाव कार्य तेज कर दिया गया है। हमारी कोशिश है कि पीडि़तों को जल्द से जल्द बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया कराई जाएं।

प्रभु के अतिरिक्त मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी पीडि़तों से मिलने कानपुर पहुंचे। इससे पूर्व रेलराज्य मंत्री मनोज सिन्हा ने घटनास्थल पर पहुंचकर रेलवे के अधिकारियों को राहत एवं बचाव कार्य में तेजी लाने का निर्देश दिया। इस बीच केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से फोन पर बात की और पीडितों की मदद करने का आग्रह किया, और मुख्यमंत्री ने उन्हें हर संभव मदद का आश्वासन दिया। रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने अधिकारियों को सख्त दिशा निर्देश दिया और कहा कि राहत-बचाव कार्य तेज किया जाए, और घायलों को तत्काल हर संभव सुविधा दी जाए तथा लोगों को उनके गंतव्य तक पहुंचाने की व्यवस्था की जाए। सिन्हा ने कहा, पहली जिम्मेदारी घायलों को अच्छा इलाज मुहैया कराने की है, ताकि उन्हें राहत मिल सके। वरिष्ठ अधिकारियों की तैनाती की गई है। पटना व मध्यप्रदेश जाने वालों के लिए फौरी तौर पर प्रबंध किया जाएगा।

उन्होंने कहा, इस हादसे की निष्पक्षता से जांच कराई जाएगी। लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने भी फोन कर हादसे की जानकारी ली है। सभी राजनीतिक दलों के लोग साथ हैं और उम्मीद है कि सभी मिलकर इस हादसे में घायलों को हर संभव मदद मुहैया कराएंगे। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने रेल दुर्घटना में यात्रियों के निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया और मृतकों के आश्रितों को 5-5 लाख रुपये, गंभीर रूप से घायलों के लिए 50-50 हजार रुपये तथा मामूली रूप से घायलों के लिए 25-25 हजार रुपये आर्थिक सहायता देने की घोषणा की। यह सहायता रेल विभाग द्वारा दी जाने वाली सहायता के अतिरिक्त होगी। दुर्घटनाग्रस्त रेलगाड़ी में सुरक्षित बचे यात्रियों के मुताबिक, रेलागाड़ी की एस-1 बोगी के डिब्बे के पहिये में आवाज आ रही थी। रास्ते में यात्रियों ने शिकायत भी की, लेकिन रेलगाड़ी के स्टाफ ने कुछ सुना नहीं। रात 3.30 बजे कानपुर देहात में पुखराया के निकट अचानक रेलगाड़ी की एस-1 बोगी बुरी तरह लडख़ड़ा गई और उसके बाद एक के बाद एक 10 बोगियां पटरी से उतर गईं। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार, इस दुर्घटना में रेलगाड़ी की एस1 और एस 2 बोगी पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई है। जिस समय दुर्घटना हुई, बिल्कुल अंधेरा था और चीख-पुकार के अलावा कुछ सुनाई नहीं दे रहा था।

दिन निकलने और लगभग डेढ़ घंटे बाद रेलवे, पुलिस और प्रशासन के अधिकारी मौके पर पहुंचने शुरू हुए। उसके बाद यात्रियों को मदद मिलनी शुरू हुई। यात्रियों के मुताबिक, झांसी से ही रेलगाड़ी में बहुत आवाज थी, उसे दो बार रोका भी गया था, लेकिन उसके बाद उसे चला दिया गया। यात्रियों की मदद के लिए हेल्पलाइन नंबर भी जारी किए गए हैं। हालांकि, ये नंबर ठीक से काम नहीं कर रहे हैं। झांसी का हेल्पलाइन नंबर 0510-1072 है, जबकि उरई का हेल्पलाइन नंबर 0516-21072 है। कानपुर का हेल्पलाइन नंबर 0512-1072 है। इसके अतिरिक्त पुखरायां का हेल्पलाइन नंबर 05113-270239 है। कानपुर देहात जिला प्रशासन का हेल्पलाइन नंबर 0511-271050 है। कानपुर देहात के पुखरायां स्टेशन के पास हुए रेल हादसे से राजनीतिक दलों ने भी प्रतिक्रिया जाहिर की है। भाजपा, कांग्रेस, सपा और बसपा समेत कई दलों ने घटना पर दुख प्रकट करते हुए हादसे में मारे गए लोगों के प्रति गहरी शोक संवेदना प्रकट की है। कांग्रेस और बसपा ने घटना की उच्चस्तरीय जांच की मांग के साथ ही उचित कार्रवाई और पीडि़तों को मुआवजा देने की मांग की है।

सपा के प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने रेल दुर्घटना में मृतकों के परिवारों के प्रति हार्दिक संवेदना प्रकट की है। घायलों के समुचित इलाज के निर्देश दिए हैं। घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना की है। बसपा अध्यक्ष मायावती ने घटना पर दुख प्रकट करते हुए घायलों के मुफ्त व बेहतरीन इलाज के साथ ही उचित आर्थिक सहायता की मांग की है। मायावती ने इस मामले की उच्चस्तरीय और समयबद्ध जांच की मांग की। उन्होंने कहा कि इसके लिए जो मुख्य दोषी हैं, उनके विरुद्ध सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए।

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य ने हादसे में हुई मौतों पर शोक संवेदना प्रकट करते हुए कहा कि भाजपा कार्यकर्ता पीडि़तों को राहत पहुंचाने में लगे हैं। प्रतिनिधिमंडल ने भी घटना स्थल पर जाकर हालात और राहत कार्यो का जायजा लिया। उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राज बब्बर ने गहरा दुख प्रकट करते हुए मृतकों की आत्मा को शांति एवं शोक संतप्त परिवारों को यह दुख सहन करने के लिए ईश्वर से प्रार्थना की है। राज बब्बर ने केंद्र एवं प्रदेश सरकार से समुचित मुआवजा एवं मुफ्त इलाज की भी मांग की है। उन्होंने घटना की जांच कराकर दोषी अधिकारियों और कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए कहा है।

 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर
ज्योतिष

Copyright @ 2016 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.