मोदी ने कांग्रेस पर साधा निशाना, कुशासन शैली की आलोचना की

Samachar Jagat | Monday, 12 Feb 2018 06:15:08 AM
Modi criticized the Congress' soft target, Kushashan style

मस्कट। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि पूर्ववर्ती सरकार के कार्यकाल में घोटालों की लंबी फेहरिस्त के कारण भारत की छवि को नुकसान पहुंचा और ‘‘कुशासन की शैली’’ को बदलने के लिए उनकी सरकार ने कड़ी मेहनत की।

दो दिन के दौरे पर ओमान पहुंचे मोदी ने राजधानी मस्कट में सुलतान कबूस स्पोट्र्स कॉम्प्लेक्स में भारतीय समुदाय को संबोधित करते हुए कहा कि ‘‘न्यूनतम सरकार, अधिकतम शासन’’ के मंत्र के साथ उनकी सरकार नागरिकों की भजदगी को सरल बनाने के लिए काम कर रही है।

उन्होंने कहा, ‘‘देश कुशासन की शैली के साथ 21वीं सदी में प्रगति नहीं कर सकता। (पूर्ववर्ती शासन में) घोटालों की लंबी फेहरिस्त ने भारत की छवि को नुकसान पहुंचा था। हमने देश को कुशासन के उस दौरे से बाहर निकालने के लिए कड़ी मेहनत की।’’

मोदी ने कहा कि उनकी सरकार ने 1400-1450 पुराने कानून रद्द कर दिए, प्रक्रियाओं को सरल बनाया, पूरी ईमानदारी से लोगों की समस्याओं पर ध्यान देती है और नये भारत में शासन की संस्कृति को बदलने के प्रयासों के तहत उनपर कार्रवाई करती है।’’

उन्होंने अपने एक घंटे के भाषण के दौरान लोगों की तालियों की गडग़ड़ाहट के बीच कहा, ‘‘हम सब एक नये भारत की दिशा में काम कर रहे हैं जहां निर्धनतम लोग अपने सपने हासिल करने की कोशिश कर सकते हैं।’’

प्रधानमंत्री ने मोदी-मोदी के नारों के बीच कहा, ‘‘लोगों ने बदलाव महसूस करना शुरू कर दिया है।’’
उन्होंने कहा कि उनकी सरकार 21वीं सदी की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए देश में अगली पीढ़ी की बुनियादी संरचना का विकास कर रही है। मोदी ने कहा कि नये भारत में कोई घोटाला नहीं है और फैसलों में समय नहीं लगता, चुनौतियां स्वीकार की जाती हैं और लक्ष्य हासिल किए जाते हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘ओमान में रहने वाले आठ लाख भारतीय सद्भावना दूत हैं जिन्होंने देश के विकास में योगदान दिया है। मुझे ओमान में घर जैसा महसूस होता है। ऐसा ओमान के लोगों और नेतृत्व के कारण ही संभव है।’’ प्रधानमंत्री ने कहा कि भारतीय समुदाय ने भारत और ओमान के संबंधों को मजबूत करने में अहम भूमिका निभायी है। -(एजेंसी)



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.