प्रमोद तिवारी बोले, राजनीति के क्षितिज पर ध्रुव तारा थे अटल​ बिहारी वाजपेयी

Samachar Jagat | Saturday, 18 Aug 2018 03:13:20 PM
Pramod Tiwari says, polarized star on horizon of politics was Atal Bihari Vajpayee

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

इलाहाबाद। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को राजनीति के क्षितिज का ध्रुव तारा बताते हुये कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी ने कहा कि उनका निधन देश में संसदीय ज्ञान के पुंज का अंत है। तिवारी ने शनिवार को'यूनीवार्ता से कहा कि राजनीति के क्षितिज पर जो रिक्तता उभरी है, अब लम्बे समय तक कहीं दूर-दूर वह प्रकाश पुंज नजर नहीं आ रहा है।

पाकिस्तान-भारत शांति प्रक्रिया के लिए बेहतर साबित होगा इमरान खान का प्रधानमंत्री बनना: सिद्धू

उसकी भरपाई नहीं हो सकती। उनके निधन से राजनीति के एक युग का अंत हो गया। विलक्षण प्रतिभा के धनी वाजपेयी में विश्वास और वाकपटुता की ऐसी तरंग थी जो विपक्षियों को भी प्रेम से धराशायी कर देती थी। उन्होंने कहा कि देश के संसदीय इतिहास में कुछ गिने चुने ही लोग रहे जिनकी भाषा का मुख्य आकर्षण उनका चुटीला अंदाज था जिसमें वे बड़ी से बड़ी बात भी कह जाते थे।

इमरान से पाकिस्तान को बहुत सी उम्मीदें: सिद्धू

उनके बोलने के अंदाज को पार्टी और उसके बाहर बहुत से लोगों ने प्रेरणा के रूप में अपनाने का प्रयास किया। वाजपेयी का जाना देश में संसदीय ज्ञान के पुंज का अंत है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने कहा कि उनकी दूरदर्शिता अतुलनीय थी। वह राजनीति के भीष्म पितामह भी कहे जाते थे।

उनकी एक खासियत थी जो चीज वे राजनीति में नहीं कह पाते थे, उसे कविता के मार्फत कह जाते थे। उनके भाषण का कोई मुकाबला नहीं था। वे सच्चे लोकतांत्रिक थे और आम सहमति में विश्वास रखते थे। वह हमारे दिलों में सदा 'अमर’ रहेंगे।

अलग-अलग देशों में हिन्दी को बचाने की जिम्मेदारी भारत ने ली है : सुषमा स्वराज

उन्होंने कहा कि अटल एक ऐसे नेता थे जिन्हें हर दल के लोग आदर प्रदान करते थे। उन्होंने राजनीति को दलगत राजनीति से ऊपर उठाया। उन्होंने अपने दर्शन पर अड़गि रहना सिखाया और जब भी राजनीति भटकी उसको सही मार्ग दिखाया।

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.