योगी ने कहा कि भारत बंद का 'कोई मतलब नहीं', जनजीवन सामान्य 

Samachar Jagat | Thursday, 06 Sep 2018 04:07:12 PM
Yogi said that India does not make any sense of Bandh, normal life

लखनऊ। एससी-एसटी कानून के विरोध में सवर्ण समुदायों के राष्ट्रव्यापी बंद के आह्वान पर प्रदेश में गुरूवार को आम जनजीवन लगभग सामान्य रहा। अभी तक कही से किसी अप्रिय घटना की कोई सूचना नही है।

उत्तराखंड: बाघों की मौत को लेकर नैनीताल उच्च न्यायालय सख्त, दिए CBI जांच के आदेश

गोंडा में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को एससी-एसटी कानून के विरोध में बंद पर कहा कि भारत बंद का कोई मतलब नहीं है, लोगों की अपनी भावनाएं हैं, लोकतन्त्र में हर व्यक्ति को अपनी बात कहने का अधिकार है।

भारत बंद का उत्तर प्रदेश में मिलाजुला असर

वह आज गोण्डा जिले के उमरी बेगमगंज में बाढ़ पीड़ितों को राहत सामग्री वितरित करने के बाद पत्रकारों से बातचीत कर रहे रहे थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी इस देश के प्रत्येक व्यक्ति की सुरक्षा, खुशहाली और समृद्धि के लिए प्रतिबद्ध हैं।

हमने जाति एवं धर्म के आधार पर कभी राजनीति नहीं की। समाज के दबे कुचले लोगों को संरक्षण देने के लिए यह कानून बनाया है। हम यह सुनिश्चित करेंगे कि इसका किसी भी तरह से दुरुपयोग न हो।

परस्पर सहमति से अप्राकृतिक यौन संबंध अपराध नहीं, धारा 377 समता के अधिकार का उल्लंघन : न्यायालय

इससे पहले जनसभा को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार ने नाव पलटने, सर्प दंश, बोर बेल में गिरने, सीरवेज सफाई के दौरान, जंगली जानवरों के हमले के दौरान मौत होने पर भी चार लाख रुपए की तत्काल सहायता देने का निर्णय लिया है।

स्वरूपानंद बोले, रामलला का मंदिर मिलकर बनवाएंगे शंकराचार्य 

स्थानीय जनप्रतिनिधियों की मांग पर उन्होंने विस्तृत विचार विमर्श के उपरांत विकास कार्य कराए जाने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार किसी क्षेत्र को उपेक्षित नहीं रहने देगी। मऊ,बलिया और सोनभद्र संवाददाता से मिली जानकारी के मुताबिक जिलों में कुछ स्थानों पर दुकाने आदि बंद रही लेकिन कही से किसी अप्रिय घटना की जानकारी नही है। 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.