बहुत ही अनोखी हैं पेड़ों के नीचे बनी ये सुरंगें, लोग देखकर रह जाते हैं हैरान

Samachar Jagat | Wednesday, 24 Apr 2019 12:39:08 PM
These tunnels built under trees are very unique

इंटरनेट डेस्क। आपने आज तक तरह-तरह की सुरंगें देखी होंगी लेकिन पेड़ों के बीच में बनी सुरंगों को शायद ही कभी देखा हो। आपको ये जानकर आश्चर्य होगा कि कुछ सुरंगों का निर्माण पेड़ों के बीच में किया गया है और ये देखने में बहुत खूबसूरत लगती हैं। आपको बता दें कि अमेरिका के कैलिफोर्निया में कुछ सुरंग ऐसी हैं जिन्हें पेड़ों के बीच में बनाया गया है। वहीं सबसे बड़ी बात ये है कि इन सुरंगों को बनाते समय पेड़ों को किसी प्रकार का कोई नुकसान नहीं पहुंचाया गया है।

बड़ा अनोखा है बिना दरवाजे वाला ये कमरा, रहने के लिए चुकाने पड़ते हैं 50 हजार से ज्यादा रूपए

इन सुरंगों से होकर रोजाना हजारों की संख्या में कारें गुजरती हैं। अपनी अलग खासियत के कारण ये सुरंगे पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र बनी हुई हैं। अमेरिका घूमने आने वाले पर्यटक इन सुरंगों को देखना नहीं भूलते हैं। जिन पेड़ों के बीच में सुरंग बनाई गई है वह पेड़ रेडवूड्स सिकुओइस के नाम से जाने जाते हैं। रेडवूड्स सिकुओइस नाम के ये तमाम पेड़ तकरीबन दो हजार साल से भी ज्यादा पुराने हैं। इन पेड़ों की उम्र अभी लगभग एक हजार साल और बाकी है और इनमें से कई तो तकरीबन तीन सौ फीट तक ऊंचे हैं।

दुबई की इस बस को देखने के लिए दूर-दूर से आते हैं लोग, जानिए क्या है खासियत

यहां घूमने आने वाले हजारों पयर्टकों ने इन पेड़ों और उनमें बनी सुरंगों की काफी प्रशंसा की है। कुछ पर्यटकों का कहना है कि स्थानीय लोगों की ओर से यह प्रयास काफी प्रशंसनीय है। इससे ये पेड़ और खूबसूरत दिखने लगे हैं, पर्यटकों को ये देखकर आश्चर्य होता है कि किसी पेड़ के बीच से इतना बड़ा हिस्सा काट देने के बाद भी वह कैसे अपने जड़ों से खड़ा रह सकता है। पेड़ों के बीच से बनी इन सुरंगों से गुजरने के लिए पर्यटकों को रूपए खर्च करने होते हैं। इसके बाद ही पर्यटक इन पेड़ों के बीच बनी सुरंग का मजा ले सकते हैं।

दुबई की इस बस को देखने के लिए दूर-दूर से आते हैं लोग, जानिए क्या है खासियत



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.