आतंकवाद और पाकिस्तान पर बोले जरूर ट्रंप लेकिन लोगों को उनके भाषण से हुई मायूसी

Samachar Jagat | Monday, 24 Feb 2020 09:30:30 PM
4007470152403266

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भारत पहुंचे तो ढोल-नगाड़े भी बजे, स्वागत गान भी हुआ. बच्चों ने मैत्री का संदेश भी सुनाया. हालांकि न तो एक करोड़ लोग जमा हुए और न ही सत्तर लाख. उनके रास्ते में लोगों का हजूम जरूर था. अभी तक लोगों की गिनती नहीं गिनी जा सकी है. वैसे यह बहस गैरजरूरी है कि लोग आए या लाए गए. सरकारी तामझाम था तो लोग आए, ट्रंप-मोदी के गीत गाए गए. यकीनन इन सबसे ट्रंप भी खूब खुश हुए होंगे. डोनाल्ड ट्रंप दो दिवसीय यात्रा पर भारत पहुंच चुके हैं. उनके साथ उनका परिवार भी है. अहमदाबाद एयरपोर्ट पर पीएम नरेंद्र मोदी ने बेहद गर्मजोशी से ट्रंप और उनकी पत्नी मेलानिया ट्रंप का स्वागत किया.

एयरपोर्ट से उनका काफिला साबरमती आश्रम पहुंचा. इसके बाद ट्रंप और मोदी मोटेरा स्टेडियम पहुंचे. दुनिया के सबसे बड़े इस क्रिकेट स्टेडियम में ही 'नमस्ते ट्रंप' कार्यक्रम का आयोजन किया गया था. स्टेडियम में करीब एक लाख लोग उन्हें सुनने पहुंचे थे. पहले मोदी ने लोगों को संबोधित किया. अपने भाषण में प्रधानमंत्री ने भारत आने के लिए ट्रंप का आभार जताया. फिर अमेरिकी राष्ट्रपति ने भाषण दिया. ट्रंप ने अपने भाषण में पाकिस्तान और आतंकवाद का भी जिक्र किया.

डोनाल्ड ट्रंप ने 'नमस्ते' कहते हुए अपना भाषण शुरू किया. उन्होंने कहा कि यहां होना मेरे लिए बेहद सम्मान की बात है. अमेरिका हमेशा भारत का एक वफादार ओर निष्ठावान मित्र रहा है और हमेशा रहेगा. भव्य स्वागत के लिए भारत का शुक्रिया. अमेरिका भारत से प्यार करता है और इतने बड़े लोकतंत्रिक देश का सम्मान करता है. भारत आना मेरे लिए सौभाग्य है. यह मेरे लिए बहुत बड़े सम्मान की बात है. सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम में ऐसे स्वागत के लिए अभिभूत हूं. सवा लाख लोगों का इस स्वागत के लिए धन्यवाद.

अमेरिकी राष्ट्रपति ने कि भारत और अमेरिका, दोनों ही आतंकवाद से पीड़ित हैं. कट्टर इस्लामी आतंकवाद से निपटने में भारत-अमेरिका हमेशा साथ रहेंगे. भारत और अमेरिका आतंकवाद के खात्मे के लिए एक साथ काम करने के लिए प्रतिबद्ध हैं. हम आतंकवाद की विचारधारा से लड़ने के लिए प्रतिबद्ध हैं. मेरी सरकार सकारात्मक रूप से पाकिस्तान के साथ आतंकियों और आतंकी संगठनों, जो बॉर्डर से ऑपरेट होते हैं, के खात्मे को लेकर काम कर रही है. मैं पाकिस्तान के समक्ष उसकी धरती से आतंकवाद के संचालित होने का मुद्दा भी उठाऊंगा.

उन्होंने कहा कि अगले दस साल में भारत से गरीबी हट जाएगी. भारत की तरक्की हर देश के लिए एक मिसाल है. यह स्वामी विवेकानंद का देश है. भारत में हर नागरिक के हक का सम्मान है. मोदी एक अद्भुत नेता हैं, वे भारत के लिए दिन-रात काम करते हैं. इस देश में हर साल दो हजार फिल्में बनाई जाती हैं. दुनियाभर में भारत का संगीत सुना जाता है. यहां अलग-अलग धर्म के लोग साथ मिलकर रहते हैं. सभी मिलकर प्रार्थना करते हैं. यह सभी चीजें मिलकर एक महान भारत बनाती हैं.

डोनाल्ड ट्रंप ने अपने भाषण में सचिन तेंदुलकर और विराट कोहली का भी नाम लिया. इतना ही नहीं, उन्होंने हिंदी में दो ट्वीट भी किए. भारत पहुंचने से पहले अपने पहले ट्वीट में ट्रंप लिखा, 'हम भारत आने के लिए तत्पर हैं. हम रास्ते में हैं, कुछ ही घंटों में हम सबसे मिलेंगे!' एक दूसरे ट्वीट में 'नमस्ते ट्रंप' का वीडियो शेयर करते हुए लिखा कि प्रथम महिला और मैं इस देश के हर नागरिक को एक संदेश देने के लिए दुनिया का आठ हजार मील का चक्कर लगा कर यहां आए हैं. अमेरिका भारत को प्रेम करता है. अमेरिका भारत का सम्मान करता है और अमरीका के लोग हमेशा भारत के लोगों के सच्चे और निष्ठावान दोस्त रहेंगे. ट्रंप के इस भाषण से मोदी भले गदगद हों लेकिन आम लोगों में इसे लेकर मायूसी है. पाकिस्तान से मिल कर काम कर रहे की बात सुन कर लोगों में गुस्सा भी है. लोग सवाल कर रहे हैं कि जिस देश में आतंकवादी गतिविधियां चल रहीं हों, वहां की सरकार के साथ मिल कर आतंकवाद को कैसे खत्म करेंगे ट्रंप. (राजनीतिक-सामाजिक मुद्दों पर सटीक विश्लेशण के लिए पढ़ें और फॉलो करें).



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2020 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.