नोट बंदी से टूटेगी आतंकवादियों की कमर: अमित शाह

Samachar Jagat | Sunday, 13 Nov 2016 10:18:25 PM
नोट बंदी से टूटेगी आतंकवादियों की कमर: अमित शाह

कन्नौज। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष अमित शाह ने कहा है कि आतंकवादियों की कमर तोडने और चुनाव को सस्ता करने के लिए केन्द्र सरकार ने नोट बंदी लागू की है।

शाह ने आज यहां एक जनसभा में कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भ्रष्टाचार को पूरी तरह समाप्त करना चाहते हैं। आतंकवादियों की कमर तोडने और चुनाव को सस्ता करने के लिए एक हजार और पांच सौ रुपये के नोट बंद किये गए। चुनाव सस्ता होगा तो भ्रष्टाचार पर अंकुश लगेगा। 

उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) अध्यक्ष मायावती के नोट बंदी के विरोध का कारण दूसरा है। यादव और मायावती भी विरोध का सही कारण सार्वजनिक रुप से नहीं व्यक्त कर पा रहे हैं। विरोध का सही कारण बता देंगे तो जनता उन्हें सबक सिखा देगी।

शाह ने जनता से सपा-बसपा को हटाकर भाजपा की सरकार बनवाने के लिए सहयोग मांगा। उन्होंने जनता से अपील की कि भाजपा शासित राज्यों की तरह उत्तर प्रदेश को भी बनाना है इसलिए इस राज्य में भी कमल खिलाना है। उन्होने कहा कि जनता को परिवर्तन लाना है और भाजपा की सरकार बनानी है। 
उन्होंने सपा-बसपा पर प्रदेश को बर्बाद कर लूटने का आरोप लगाया। 

उन्होंने सत्ताधारी समाजवादी पार्टी को चेतावनी देते हुए कहा कि गरीबों की जमीनों पर कब्जा करने वाले समाजवादियों को बख्शा नहीं जाएगा। सरकार बनने पर गरीबों की जमीन वापस कराई जाएगी। उन्होंने कहा कि भाजपा ने इस देश में परफार्मेंस की राजनीति शुरू की है। एक-एक करके देश के अधिकतर राज्यों में भाजपा की सरकार बन रही है।

उन्होंने कहा कि देश की राजनीति जातिवाद, तुष्टीकरण, पर न चले बल्कि परफार्मेंस के आधार पर चले। उन्होंने कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव में भाजपा के एजेंडे में विकास और महिला सुरक्षा प्रमुख रूप से रहेगा। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि भाजपा कानून के साथ ही महिलाओं की सुरक्षा पर काम करेगी। तीन तलाक के मुद्दे पर भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि अब यह राष्ट्रीय मसला बन गया है।

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर
ज्योतिष

Copyright @ 2016 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.