भारत 2030-31 से पहले हासिल कर सकता है 30 करोड़ टन का इस्पात उत्पादन : सचिव

Samachar Jagat | Wednesday, 10 Oct 2018 02:38:13 PM
India can achieve 30 million tonne steel production before 2030-31: Secretary

नई दिल्ली। सरकार ने मंगलवार को विश्वास जताया कि भारत 30 करोड़ टन इस्पात उत्पादन का लक्ष्य 2030-31 से पहले हासिल कर लेगा। इस्पात सचिव बिनय कुमार ने कहा, 2017 में आई राष्ट्रीय इस्पात नीति ऐतिहासिक नीति है। इसमें 2030 तक इस्पात उत्पादन 30 करोड़ टन पर पहुंचाने का लक्ष्य रखा गया है। प्रति व्यक्ति के हिसाब से उपभोग वृद्धि को देखते हुए हम कह सकते हैं कि यह लक्ष्य पहले हासिल हो जाएगा। केंद्रीय मंत्रिमंडल ने पिछले साल राष्ट्रीय इस्पात नीति 2017 को मंजूरी दी थी। इसमें 2030-31 तक इस्पात उत्पादन को 30 करोड़ टन तक पहुंचाने के लिए 10 लाख करोड़ रुपए के निवेश का लक्ष्य तय किया गया है। 

उन्होंने कहा, इसके लिए जरूरी है कि खनन क्षेत्र को बढ़ाया जाए। इस परिप्रेक्ष्य में मैं कह सकता हूं कि एनएमडीसी को महत्वपूर्ण भूमिका निभानी होगी। कुमार ने कहा कि इस्पात मंत्रालय का मानना है कि इस क्षेत्र को प्रोत्साहन के लिए लौह अयस्क के संदर्भ में विशेष नीति होनी चाहिए। कुमार ने कहा कि भारत इस्पात उत्पादन में अभी दुनिया में तीसरे स्थान पर है। जल्द हम दूसरे स्थान पर होंगे। 

उन्होंने बताया कि प्रति व्यक्ति इस्पात की खपत चालू साल में बढ़कर 69 किलोग्राम हो गई है। हालांकि, यह उपभोग के अंतरराष्ट्रीय मानदंडों से अभी काफी पीछे है। उन्होंने कहा कि ऐसे में भविष्य में इस्पात उद्योग के लिए काफी संभावनाएं हैं। 
इस बीच, जेएसडब्ल्यू स्टील के चेयरमैन सज्जन जिंदल ने भी भरोसा जताया कि भारत 30 करोड़ टन इस्पात उत्पादन के लक्ष्य को 2030 से पहले हासिल कर लेगा।  -एजेंसी



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.