मेट्रो शहरों की अपेक्षा छोटे शहरों में बढ़ रहा है रियल एस्टेट कारोबार

Samachar Jagat | Tuesday, 05 Dec 2017 12:22:37 PM
Real estate business is growing in smaller cities than metro cities

कोलकाता। देश के दूसरी और तीसरी श्रेणी के छोटे शहरों में खुदरा रियल एस्टेट कारोबार में निवेश में तेजी आई है और यह मेट्रो शहरों में निवेश के मुकाबले अधिक हो गया है। रियल एस्टेट सलाहकार फर्म जेएलएल इंडिया ने इसकी जानकारी दी। जेएलएल इंडिया के खुदरा सेवाओं के प्रबंध निदेशक पंकज रेंझन ने कहा, रियल एस्टेट निवेश न्यासों (रेइट) के आने से खुदरा परिसंपत्तियां अधिक आकर्षक हो गई हैं।

जीएसटी लागू होने के बाद मानव निर्मित धागे, कपास वस्त्र के आयात में भारी वृद्धि सिटी

साल 2015 से 2017 की तीसरी तिमाही के बीच दूसरी और तीसरी श्रेणी के शहरों में खुदरा रियल एस्टेट में निवेश, 1.57 अरब डॉलर का 54 प्रतिशत रहा , जो कि मेट्रो शहरों से ज्यादा है। इसके इकाई स्तर के सौदे और मॉल में हिस्सेदारी का अधिग्रहण शामिल हैं। 

योजनाओं को सरल बनाने के संबंध में 15 दिसंबर तक प्रस्ताव दें म्यूचुअल फंड : सेबी

उन्होंने आगे कहा कि कुछ वैश्विक निजी इक्विटी फंड भारत में अपने पोर्टफोलियो में विविधता लाने के लिए खुदरा रियल एस्टेट में निवेश कर रहे हैं। फर्म ने आगे कहा कि मुंबई के अलावा पुणे, बैंगलोर, अमृतसर, इंदौर, अहमदाबाद और चंडीगढ़ जैसे शहरों में बड़े पैमाने पर निवेश हुआ। -एजेंसी 

ट्राई ने दूरसंचार सेवा परीक्षण की अवधि, ग्राहक संख्या की सीमा तय करने की सिफारिश की

मोबिक्विक के पूर्व उपाध्यक्ष पेश करेंगे साइकिल एप, करेंगे पांच लाख डॉलर निवेश



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2017 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.