लगातार चौथी बार चीन ने बचाया आंतकी मसूद अजहर को, अमेरिका ने इसे लेकर दिया अब तक का बड़ा बयान

Samachar Jagat | Thursday, 14 Mar 2019 09:04:45 AM
 fourth time China has rescued a large number of Maasud Azhar, America's biggest statement

इंटरनेट डेस्क: आतंकी संगठन जैशएमोहम्मद के चीफ  मसूद अजहर पर  शिकंजा कसने की पूरी तैयारी भारत की और से की गई लेकिन एक बार फिर से चीन ने अपना सख्त रवैया अपना ही लिया है बुधवार को आंतकी मसूद अजहर की डेडलाइन खत्म होने वाली थी ऐसे में अलकायदा प्रतिबंध समिति में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद यूनएससी के किसी भी सदस्य द्वारा कोई आपत्ति नहीं जताने पर उसे अंतरराष्ट्रीय आंतकी घोषित किया जा सकता है लेकिन पड़ोसी देश चीन एक बार फिर आतंकी मौलाना मसूद अजहर के साथ हो गया है, और अपने वीटो पावर का इस्तेमाल कर उसे बचा लिया है

Old Post Image

खबरों की माने तो बुधवार शाम को संयुक्त राष्ट्र की सुरक्षा समिति की बैठक में चीन ने अपने वीटो पावर का एक बार और इस्तेमाल कर भारत की कोशिशों को धूमिल कर दिया है, जिसके बाद भारत ने कठोर आपत्ति दर्ज कराई है जिसके बाद अमेरिका भी अब भारत के साथ खड़ा हो गया है अमेरिका की ओर से यूएनएससी में कड़ा बयान दिया गया कि अगर चीन लगातार इस तरह की अड़चन बनता रहा, तो जिम्मेदार देशों को कोई और कदम उठाना पड़ सकता है

Old Post Image

जानकारी अनुसार बुधवार को अमेरिका की ओर से एक बयान जारी हुआ उसमें कहा गया है कि पाकिस्तान चीन की मदद से कई बार जैश.ए.मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी घोषित होने से बचाता रहा है, ये चौथी बार है जब चीन ने इस तरह से मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी घोषित होने से बचाया है इस दौरान सख्त भाषा का इस्तेमाल करते हुए अमेरिका ने आगे कहा कि अगर इसी तरह चीन द्वारा मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी घोषित होने से बचाता रहा तो सुरक्षा परिषद के अन्य सदस्यों को सख्त रुख अपनाना पड सकता है, लेकिन हालात यहां तक नहीं आने चाहिए

Old Post Image

वैसे आपकों बतादें की जम्मूकश्मीर के  पुलवामा आतंकी हमले के गुनाहगार मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी घोषित करने के लिए भारत की कोशिशों को दुनिया के कई बड़े देशों का साथ मिला है पर पड़ोसी मुल्क ने एक बार फिर से भारत की कोशिशों पर पानी फेर दिया है खबरों की माने तो संयुक्त राष्ट्र की सुरक्षा परिषद के ही सदस्य अमेरिका, फ्रांस, ब्रिटेन ने मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी घोषित करने का प्रस्ताव पेश किया था, लेकिन एक बार फिर चीन ने वीटो पावर का इस्तेमाल कर इसपर रोक लगाने का काम कर दिया है ऐसे में चीन द्वारा की गई इस हरकत के बाद भारत के विदेश मंत्रालय ने भी बयान जारी कर कहा की चीन के इस मूव से हम बहुत निराश हैं, लेकिन जिन सदस्य देशों ने भारत के समर्थन में प्रस्ताव दिया और उसका साथ दिया उन सभी को धन्यवाद है  चीन की इस विटो पावर के इस्तेमाल के बाद सोशल मीडिया पर भी लोगों में बहुत गुस्सा देखा गया है और चीन का विरोध कर रहे है 
 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.