मोदी हैं गरीबों के मसीहा, विपक्ष संसद में बहस नहीं करना चाहता : नायडू

Samachar Jagat | Saturday, 19 Nov 2016 02:10:35 AM
मोदी हैं गरीबों के मसीहा, विपक्ष संसद में बहस नहीं करना चाहता : नायडू

नई दिल्ली। नोटबंदी के मुद्दे पर अडिय़ल रूख अपना रहे विपक्ष की ओर से संसद की कार्यवाही नहीं चलने देने पर केंद्र सरकार ने आज विरोधी पार्टियों पर आरोप लगाया कि वे बहस से भाग रही हैं । सरकार ने कहा कि जनमत विपक्षी पार्टियों के खिलाफ है जबकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गरीबों के ‘‘मसीहा’’ के तौर पर उभरे हैं । 
विपक्ष की ओर से किए गए हंगामे के कारण संसद के दोनों सदनों की कार्यवाही स्थगित किए जाने के बाद केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री एम वेंकैया नायडू और संसदीय मामलों के मंत्री अनंत कुमार ने विपक्ष पर हमला बोला और कहा कि कांग्रेस संसद की कार्यवाही नहीं चलने देना चाहती । 
उन्होंने राज्यसभा में पीएम मोदी की मौजूदगी की विपक्ष की मांग खारिज कर दी । लोकसभा में मत विभाजन के नियम के तहत बहस कराने की विपक्ष की मांग भी उन्होंने खारिज कर दी और कहा कि इन मांगों का मकसद असल मुद्दे से ध्यान भटकाना है और कांग्रेस अब ‘‘यू टर्न’’ ले रही है । 
नायडू ने कहा कि ऐसा लगता है कि कांग्रेस और उसकी सहयोगी पार्टियां संसद नहीं चलने देना चाहती।
उन्होंने पत्रकारों से कहा, ‘‘मोदी जी देश में बहुत लोकप्रिय हैं और इस कदम के बाद वह और लोकप्रिय हो गए हैं.....अत्यंत लोकप्रिय । देश के गरीब मोदी को मसीहा की तरह देख रहे हैं.....हम नहीं समझ पा रहे कि कांग्रेस और उसके साथी संसद में हंगामा क्यों कर रहे हैं ।’’ 
नायडू ने कहा, ‘‘कांग्रेस अब कह रही है कि प्रधानमंत्री को सदन में आना चाहिए, तभी बहस होगी और वह जेपीसी की भी मांग कर रही है । मुद्दे से ध्यान भटकाने की कोशिश है । उसके पास तथ्य नहीं हैं और जनमत उसके खिलाफ जा रहा है । वे संसद नहीं चलने देना चाहते और उसी दिशा में बढ़ते लग रहे हैं ।’’
उन्होंने कहा कि कांग्रेस कल राज्यसभा की कार्यवाही सुचारू ढंग से चलने से परेशान है क्योंकि उसे सार्थक चर्चा में कोई रूचि नहीं है । 
नायडू ने विपक्षी पार्टियों पर प्रधानमंत्री के लिए ‘‘अभद्र भाषा’’ का इस्तेमाल करने का आरोप लगाते हुए कहा कि वे मोदी की तुलना हिटलर और मुसोलिनी जैसे लोगों से कर रहे हैं ।

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर
ज्योतिष

Copyright @ 2016 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.