सिब्बल की दलील आश्चर्यजनक, चुनाव के वक्त मंदिरों के दौरे करने वाले राहुल रूख स्पष्ट करें: शाह

Samachar Jagat | Wednesday, 06 Dec 2017 10:20:48 AM
Sibal arguments are surprising, tell Rahul who visits temples during elections: Shah

अहमदाबाद। बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने मंगलवार को कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और अयोध्या के रामजन्मभूमि विवाद में ऑल इंडिया सुन्नी वक्फ बोर्ड के वकील कपिल सिब्बल की ओर से इस मामले की सुनवाई को कथित तौर पर 2019 के आमचुनाव के बाद तक टालने की अदालत में दी गई दलील को आश्चर्यजनक बताते हुए गुजरात में मंदिरों के ताबड़तोर दौरे कर रहे राहुल गांधी से इस मामले में अपना आधिकारिक रूख स्पष्ट करने की मांग की।

आकाश का सफल परीक्षण

शाह ने मंगलवार शाम यहां पत्रकारों से कहा कि श्रीरामजन्मभूमि मामले की आज से देश की सर्वोच्च अदालत में सुनवाई शुरू हुई और जनता की भावना यह है कि फैसला जल्द से जल्द आए। भाजपा भी यह चाहती है कि वहां भव्य राममंदिर बने। पर कांग्रेस के नेता और सुन्नी वक्फ बोर्ड के वकील सिब्बल ने इसे मामले की सुनवाई जुलाई 2019 यानी अगले आम चुनाव के बाद तक टालने की आश्चर्यजनक दलील पेश कर दी।

उन्होंने आरोप लगाया कि जब भी कांग्रेस को अलग प्रकार का रूख दिखाना होता है तो यह सिब्बल को आगे कर देती है चाहे यह टूजी घोटाला में जीरो लॉस थ्योरी हो या गुजरात में आरक्षण के मामले में 50 प्रतिशत से अधिक आरक्षण संभव होने की राय देना हो। अब श्रीरामजन्मभूमि पर मंदिर बनने की राह में रोड़ा अटकाने के लिए सुन्नी वक्फ बोर्ड के वकील के तौर पर वह आगे आए हैं। ऐसा कर के क्या हासिल होगा।

गुजरात में राहुल की रैलियों में उमड़ रही भीड़ से प्रधानमंत्री परेशान: तिवारी 

शाह ने कहा कि कांग्रेस और गुजरात में चुनाव के समय मंदिर मंदिर जाकर श्रद्धा जताने वाले राहुल गांधी को दोहरी नीति छोड़ कर यह स्पष्ट करना चाहिए कि क्या उनकी पार्टी भी यही चाहती है कि इस मामले की सुनवाई टाल दी जाए। वे भी ऐसे समय जबकि जनता इस पर जल्द से जल्द फैसला चाहती है। सारे दस्तावेजों का अनुवाद हो चुका है और कोर्ट ने सुनवाई के लिए तीन जजों की पीठ तय कर दी है। भाजपा चाहती है कि जल्द से जल्द फैसला आए और वहां भव्य राममंदिर बने।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2017 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.