2019 लोकसभा चुनावों को लेकर माकपा के येचुरी ने कही ये बड़ी बात!

Samachar Jagat | Tuesday, 12 Jun 2018 08:45:58 PM
Sitaram Yechury said grand alliance of opposition after the lok sabha election

लखनऊ। माक्र्सवादी कम्यूनिस्ट पार्टी (माकपा) महासचिव सीताराम येचुरी ने मंगलवार को दावा किया कि 2019 के लोकसभा चुनाव के बाद की परिस्थितियों के अनुसार राष्ट्रीय स्तर पर महागठबंधन बनेगा। इसलिए विपक्ष को प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित करने की कोई जरूरत नहीं है। येचुरी ने पत्रकारों से रू-ब-रू होते हुए कहा कि, आगामी आमचुनाव में क्षेत्रीय दलों की बड़ी भूमिका होगी और ये दल गठबंधन कर चुनाव मैदान में उतर सकते हैं।

इस भारतीय खिलाड़ी ने दी अफगानिस्तान के खिलाडिय़ों को खुली चेतावनी, कही ये बड़ी बात

क्षेत्रीय समस्यायों को लेकर हर राज्य का फार्मूला अलग हो सकता है। हालांकि भाजपा के खिलाफ चुनाव परिणाम आने के बाद सभी दलों को एक मंच में आना होगा और यहीं महागठबंधन का कारक बनेगा। उन्होंने कहा, जहां तक विपक्ष के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार का मामला है, इसकी अभी कोई जरूरत नहीं है। 2004 में भाजपा ने अटल बिहारी वाजपेयी को प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार बनाया था जबकि विपक्ष ने ऐसे किसी प्रत्याशी की घोषणा नहीं की थी मगर चुनाव के बाद कांग्रेस के मनमोहन सिंह प्रधानमंत्री बने और वह देश के मजबूत प्रधानमंत्रियों में से एक थे।

बस इस एप पर गेम खेलों और जीतो एपल का आईपैड, ये मोबाईल कंपनी दे रही ऑफर

पार्टी नेताओं के साथ कार्यक्रम और रणनीति पर चर्चा के बाद येचुरी ने पत्रकार सम्मेलन में कहा कि यह समय विपक्षी एकता को मजबूत करने का है। लोग खुले दिलो-दिमाग से भाजपा के खिलाफ विपक्षी उम्मीदवार के समर्थन में आगे आने लगे हैं। जनता कतई नहीं चाहती कि नरेन्द्र मोदी को प्रधानमंत्री की कुर्सी दोबारा मिले। उन्होंने दावा किया कि वामदल इस अहम चुनाव के लिए विपक्षी एकता को मजबूत करने में बड़ी भूमिका निभाएंगे। यह मुहिम शुरू हो चुकी है जिसके सार्थक परिणाम भी सामने आने लगे हैं।

केजरीवाल की मांगों को पूरा करवाने के लिए अब आप पार्टी करेगी ये काम!

कर्नाटक सरकार का गठन विपक्षी एकता का परिचायक है। विपक्षी दल भाजपा का सफाया करने के लिए कटिबद्ध है। 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा का पतन निश्चित है। वाम नेता ने आरोप लगाया कि चार साल के कार्यकाल में मोदी सरकार ने देश का बेड़ा गर्क कर दिया है। बेरोजगारी बढ़ी है। बदहाली के शिकार किसान आत्महत्या कर रहे हैं। सरकार आर्थिक मोर्चे पर फेल हो चुकी है। सरकार की गलत नीतियों के चलते लोगों का बैंकिग प्रणाली से भरोसा उठ गया है। पेट्रोलियम उत्पादों की कीमते आसमान छू रही हैं।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.