इस बार रक्षाबंधन पर घर पर बनाएं भाई के पसंदीदा पेड़े, प्यार के साथ परोसें मिठास

Samachar Jagat | Friday, 17 Aug 2018 11:00:33 AM
Make mawa peda on Rakshabandhan's at home

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

इंटरनेट डेस्क। अगर मिठाईयों का नाम लें और मथुरा के पेड़े याद न आएं तो क्या कहना। भारतीय मिठाइयों में पेड़े सबसे फेमस है। हर किसी को पेड़े बहुत पसंद होते है। यह बहुत ही स्वादिष्ट और लाजवाब मिठाई है। उत्तर प्रदेश में सबसे ज़्यादा पेड़े ही पसंद किए जाते है। पेड़ों को बनाना जितना आसान है उतने ही टेस्टी होते है। इन्हें धार्मिक फंक्शन में भी पूजा में रखा जाता है। वहीं इन्हें किसी त्योहार या खास मौके पर भी बनाया जाता है। अगस्त के महीने में सबसे मीठा त्योहार राखी आ रहा है। तो इस बार अपने भाई का मुंह मिठा कराने के लिए उनकी पसंदीदा डिश पेड़े बनाकर उन्हें खुश करें। तो आइए जानते हैं पेड़े बनाने की आसान विधि-

सामग्री

खोया - 500 ग्राम

बूरा- 300 ग्राम

दूध - 250 ग्राम 

ऐसे बनाएं गरमागरम खस्ता कचौरी

पिसी हुई चीनी - 100 ग्राम

इलाइची पाउडर – चुटकी भर 

कटे हुए बादाम- 6

पिस्ता - 5

विधि- सबसे पहले एक कड़ही में खोया को भूनें। इसमें साथ में दूध मिलाते रहें। कलछी को लगातार चलाते रहे ताकि मावा जले ना। जब मावे का रंग बदलने लगे और खुशबू आने लगे तो इसका मतलब है कि मावा भूनकर तैयार है। अब इसमें इलाइची पाउडर डालें। अब इसे गैस से उतारकर एक बर्तन में लें। इसमें चीनी या बूरा मिला दें। कुछ सम. के लिए इसे ठंडा होने के लिए रख दें। पेड़ों का मिश्रण तैयार है। जब यह ठंडा हो जाए तो हथेली पर रखकर इसके गोल आकार के पेड़े बनाएं। सारे मिश्रण के पेड़े बना लें। इन पर इलायची और पिस्ता-बादाम के टुकड़ों से गार्निशिंग करें। स्वादिष्ट और लाजवाब पेड़े बनकर तैयार है। राखी पर अपने भाई का मुंह मिठाकर कराकर प्यार भरी मिठास फैलाएं।

स्वास्थ्य के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है केले का हलवा, ऐसे बनाएं

सावन शिवरात्रि पर भोलेनाथ को लगाएं खजूर गुड की खीर का भोग

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.