सावन के महीने में भारत के इन प्रमुख शिव मंदिरों में दर्शन के लिए दुनिया भर से आते है श्रद्धालु

Samachar Jagat | Wednesday, 25 Jul 2018 01:59:43 PM
Visitors from all over the world come for darshan In these Shiva temples of India

इंटरनेट डेस्क। सावन का महीना शुरू होने वाला है। चारों तरफ भोलेनाथ के डमरू की आवाज सुनाई देगी। शिवालयों में सुबह से शाम तक भीड़ रहेगी। इन दिनों सहस्त्रघट और अभिषेक के लिए मंदिरों में लाइनें लगी होती है। भारत में कई फेमस शिव मंदिर है जहां पर दूर-दराज से श्रद्धालु दर्शने के लिए आते है। कहा जाता है कि शिव की आराधना करने वाले व्यक्ति को फल अवश्य मिलता है। आज आपको भारत के कुछ फेमस शिवालयों के बारे में बता रहे है जहां पर इस सावन जा सकते है।

नीलकंठ महादेव- ऋषिकेश न सिर्फ रिवर रॉफ्टिंग और बंजिंग जंपिंग के लिए जाना जाता है बल्कि यहां पर कई धार्मिक स्थल भी है। यहां भगवान शिव का बहुत ही खास, नीलकंठ रूप देखने को मिलता है। नीलकंठ मंदिर 1330 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। यह मनीकूट, विष्णुकूट और ब्रह्मकूट पहाड़ों से घिरा हुआ है। सावन के महीने में यहां का नजारा कुछ अलग ही नजर आता है। मंदिर में शिवलिंग के अलावा भगवान गणेश और कपिल मुनि की मूर्तियां भी हैं।

केदारनाथ मंदिर, उत्तराखंड- इस मन्दिर को पांडव वंश के जनमेजय ने बनाया था। केदारनाथ बारह ज्योतिर्लिगों में से एक है। यह हिमालय की गोद में स्थित है। इसे चार धाम और पंच केदार भी माना जाता है।

महाकालेश्वर मंदिर, उज्जैन- भगवान शिव के 12 ज्योर्तिलिंगों में से एक है महाकालेश्वर। महाकालेश्वर की प्रतिमा दक्षिणमुखी है। महाकालेश्वर को मृत्यु के देवता के नाम से भी जाना जाता है।

एकलिंगजी मंदिर, उदयपुर- राजस्थान के लोकप्रिय तीर्थस्थानो में से एक है एकलिंगजी मंदिर। यह उदयपुर से सिर्फ 22 किमी की दूरी पर स्थित है। शिव का नंदी बैल और बप्पा रावल की प्रतिमा जैसी अन्य मूर्तियां मुख्य मंदिर के बाहर स्थापित हैं। बप्पा रावल की प्रतिमा हाथ जोड़े नंदी बैल के सामने स्थित है।

रामेश्वरम- तमिलनाडु राज्य के रामनाथपुर नामक स्थान में यह ज्योतिर्लिंग स्थित है। भगवान शिव के 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक होने के साथ-साथ यह स्थान हिंदुओं के चार धामों में से एक भी है।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
रिलेटेड न्यूज़
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.