Social Media War: 1971 में भारत के सामने घुटने टेकती पाक फ़ौज.. अफगानी उपराष्ट्रपति का पोस्ट देख चिढ़े पाकिस्तानी

Samachar Jagat | Friday, 23 Jul 2021 09:46:46 AM
Pak army kneeling before India in 1971, irritated to see Afghan Vice President's post

काबुल: अफगानिस्तान के उपराष्ट्रपति अमरुल्ला सालेह ने बुधवार (21 जुलाई, 2021) को एक आतंकी समूह तालिबान को पाकिस्तान की मदद का सबूत देने के बाद सोशल मीडिया पर पाकिस्तान ट्रोलर्स को करारा जवाब दिया. दरअसल, सालेह ने अपने ट्विटर हैंडल पर 1971 के भारत-पाक युद्ध में भारत के सामने आत्मसमर्पण करने वाले पाकिस्तान की पूर्वी कमान के प्रभारी जनरल आमिर अब्दुल्ला खान नियाजी की तस्वीर पोस्ट की थी। ये फोटो अक्सर पाक समर्थकों को चिढ़ाने के लिए काफी होती है.

 

We don't have such a picture in our history and won't ever have. Yes, yesterday I flinched for a friction of a second as a rocket flew above & landed few meters away. Dear Pak twitter attackers, Talibn & terrorism won't heal the trauma of this picture. Find other ways. pic.twitter.com/lwm6UyVpoh

— Amrullah Saleh (@AmrullahSaleh2) July 21, 2021

 

सालेह ने तस्वीर पोस्ट करते हुए लिखा, 'इतिहास में हमारे पास ऐसी कोई तस्वीर नहीं है और न होगी। हां, थोड़ी देर के लिए मैं हिल गया था जब रॉकेट हमारे ऊपर से निकला और थोड़ा दूर गिरा। तो पाकिस्तान के चहेते ट्विटर हमलावर, तालिबान और आतंकवाद इस तस्वीर के जख्मों को नहीं भर पाएंगे, इसलिए कोई दूसरा रास्ता खोजिए।' सालेह द्वारा पोस्ट की गई तस्वीर को खबर लिखे जाने तक 23,000 से अधिक लाइक्स और 8,000 से अधिक रीट्वीट मिल चुके हैं।

हालांकि, कई पाकिस्तानी इस गलत विचार से खुश हैं कि उन्होंने भारत से कभी कोई युद्ध नहीं हारा है। दरअसल, जब अशरफ गनी काबुल में बकरीद के मौके पर राष्ट्रपति भवन में नमाज अदा कर रहे थे, तभी रॉकेट हमला हुआ। उपराष्ट्रपति ने कड़ी प्रतिक्रिया दी थी जिसके बाद उन पर ट्विटर के जरिए पाकिस्तानी ट्रोलर्स ने हमला किया था। सालेह द्वारा पोस्ट की गई यह ऐतिहासिक तस्वीर 16 दिसंबर, 1971 की है। यह तस्वीर बांग्लादेश मुक्ति संग्राम के दौरान ली गई थी, जब पाकिस्तानी सेना के वरिष्ठ अधिकारियों ने पूर्वी पाकिस्तान (अब बांग्लादेश) में 93,000 सैनिकों के साथ भारतीय सेना के सामने आत्मसमर्पण कर दिया था। भारत ने पाकिस्तान पर अपनी सैन्य जीत को 'स्वर्ण विजय वर्ष' के रूप में मनाया।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2021 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.