दिनभर सुर्खियों में रही देश के प्रतिष्ठित मीडिया समूह दैनिक भास्कर के कार्यालयों पर आईटी की रेड, विपक्ष के बड़े नेताओं ने छापेमारी की अलोचना की, राहुल गांधी, अशोक गहलोत, ममता बनर्जी, शरद पवार ने क्या कहा ? पढे़ं

Samachar Jagat | Thursday, 22 Jul 2021 11:20:57 PM
IT raids on the offices of the country's reputed media group Dainik Bhaskar, which were in the headlines throughout the day, the big leaders of the opposition criticized the raids, what did Rahul Gandhi, Ashok Gehlot, Mamta Banerjee, Sharad Pawar say? read

इंटरनेट डेस्क। देश के एक प्रतिष्ठित मीडिया समूह दैनिक भास्कर के कार्यालयों में आज गुरुवार को आयकर विभाग की टीम ने छापेमारी की है। भास्कर के जयपुर, भोपाल और अहमदाबाद स्थित कार्यालयों में ये रेड पड़ी है। दैनिक भास्कर द्वारा कोरोना काल में लगातार बेहतरीन कवरेज की गई है। सत्य पर आधारित पत्रकारिता में दैनिक भास्कर ने कोरोना काल में भी बेजोड़ काम किया। इसके बाद आज हुई छापेमारी को लेकर सोशल मीडिया पर भी दिनभर ये खबर ट्रेंड करती रही। विपक्ष की ओर से लगातार इनकम टेक्स की इस कार्रवाई के खिलाफ आवाज उठाई जा रही है। कांग्रेस के नेता व पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी,एनसीपी चीफ शरद पवार, राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत सहित कई बड़े नेताओं ने छापेमारी की इस घटना को केंद्र सरकार द्वारा बदले की भावना बताया है। 

 

ऐसी कार्रवाई कर मोदी सरकार मीडिया को दबाकर संदेश देना चाहती है कि यदि गोदी मीडिया नहीं बनेंगे तो आवाज कुचल दी जाएगी। — Ashok Gehlot (@ashokgehlot51) July 22, 2021

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा कि काग़ज़ पर स्याही से सच लिखना, एक कमज़ोर सरकार को डराने के लिए काफ़ी है। इसके साथ ही उन्होंने हैशटेग #RaidOnFreePress” भी लिखा।

 

काग़ज़ पर स्याही से सच लिखना, एक कमज़ोर सरकार को डराने के लिए काफ़ी है।#RaidOnFreePress — Rahul Gandhi (@RahulGandhi) July 22, 2021

वहीं टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी ने भी इस घटना पर ट्वीट किया। ममता बनर्जी ने ट्वीट में लिखा कि पत्रकारों और मीडिया घरानों पर हमला लोकतंत्र को कुचलने का एक और क्रूर प्रयास है। दैनिक भास्कर ने बहादुरी से बताया किस तरह से नरेंद्र मोदी जी ने पूरे कोविड संकट को गलत तरीके से संभाला और एक भयंकर महामारी के बीच देश को उसके सबसे भयावह दिनों में ले गए। मैं इस प्रतिशोधी कृत्य की कड़ी निंदा करती हूं जिसका उद्देश्य सत्य को सामने लाने वाली आवाजों को दबाना है। 

 

The attack on journalists & media houses is yet another BRUTAL attempt to stifle democracy.#DainikBhaskar bravely reported the way @narendramodi ji mishandled the entire #COVID crisis and led the country to its most horrifying days amid a raging pandemic. (1/2) — Mamata Banerjee (@MamataOfficial) July 22, 2021

वहीं इससे पहले राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने ट्वीट कर लिखा कि ऐसी कार्रवाई कर मोदी सरकार मीडिया को दबाकर संदेश देना चाहती है कि यदि गोदी मीडिया नहीं बनेंगे तो आवाज कुचल दी जाएगी। वहीं एनसीपी चीफ ने लिखा कि क्या यह अघोषित आपातकाल नहीं है। राकांपा ने यह भी कहा कि इस मीडिया घराने ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की विफलताओं की निडरता से खबर दी थी। 

 



 
loading...



Copyright @ 2021 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.